Saturday, December 3, 2022
Home मध्यप्रदेश मध्य प्रदेश में 163 ऑक्सीजन प्लांट हुए क्रियाशील, प्रतिदिन 182 मी.टन ऑक्सीजन...

मध्य प्रदेश में 163 ऑक्सीजन प्लांट हुए क्रियाशील, प्रतिदिन 182 मी.टन ऑक्सीजन का उत्पादन होगा

 मध्य प्रदेश, भोपाल :—

मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन की स्थानीय उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न चिकित्सालय में 163 ऑक्सीजन प्लांट्स स्थापित किये जा चुके हैं। इन प्लांटस की प्रतिदिन 182 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता है। इससे आवश्यकता पड़ने पर 9145 रोगियों को 10 लीटर प्रति मिनट की दर से ऑक्सीजन प्रदाय की जाकर उपचारित किया जा सकेगा। प्रदेश में पीएम केयर फंड एवं राज्य शासन के अथक प्रयासों से 202 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट्स की स्थापना का कार्य कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी को महसूस कर प्रारंभ किया गया था। शेष 39 ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना इसी माह सुनिश्चित कर ली जाएगी।

ऑक्सीजन में म.प्र. बन रहा है आत्म-निर्भर

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिये गये सहयोग से मध्यप्रदेश ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्म-निर्भर बनाने की ओर अग्रसर है। कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना मरीजों की जान बचाने के लिए अन्य राज्यों से ऑक्सीजन आयात की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन की स्थानीय व्यवस्था के लिए प्लांटस स्थापना के शासकीय चिकित्सालयों में अतिरिक्त रूप से 30 हजार 291 ऑक्सीजन सिलिन्डर की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है। उन्होंने बताया कि मार्च 2020 की स्थिति में प्रदेश के किसी भी शासकीय चिकित्सालय में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट उपलब्ध नहीं थे। आज की स्थिति में 163 ऑक्सीजन प्लांटस प्रदेश के विभिन्न जिलों में प्रांरभ हो चुके है। शेष प्लांटस भी शीघ्र स्थापित कर लिए जाएंगे। इन सभी 202 प्लांटस से प्रतिदिन लगभग 230 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन जनरेट हो सकेगी।

प्रदेश में पीएम केयर फंड से 88, मुख्यमंत्री राहत कोष से 13 एवं अन्य विभिन्न माध्यम जैसे स्वास्थ्य विभाग, CSR एवं स्थानीय प्रयासों से 101 ऑक्सीजन प्लांट्स स्थापित करने का काम गत मई माह से शुरू किया गया। आज मध्यप्रदेश 163 ऑक्सीजन प्लांटस स्थापित कर आत्म-निर्भरता की ओर अग्रसर हो रहा है।

ऑक्सीजन भंडारण सुविधा

प्रदेश के शासकीय चिकित्सा महाविद्यालयों में वर्तमान में 360 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन के भंडारण की सुविधा है। इसके अतिरिक्त प्रदेश के 34 जिला चिकित्सालयों में 6 किलो लीटर की क्षमता के लिक्विड ऑक्सीजन के टैंक (कुल 248 मीट्रिक टन) की स्थापना की जा रही है। शासकीय चिकित्सालय में 13 हजार 956, चिकित्सालय महविद्यालयों में 1350 ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है। इसके अलावा भारत सरकार ने भी पूर्व में दिए ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर के अतिरिक्त 3860 कॉन्सनट्रेटर का आबंटन और किया गया है।

आईसीयू , एचडीयू, ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स

स्वास्थ्य विभाग के अधीन स्वास्थ्य संस्थाओं में जून 2021 तक 11 हजार 156 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स उपलब्ध थे। राज्य शासन द्वारा 3099 अतिरिक्त बेड्स को ऑक्सीजन सपॉर्टिड बेड्स में परिवर्तित करने की स्वीकृति दी, जिसमें लगभग 2000 बेड्स क्रियाशील किए जा चुके हैं, शेष बेड्स इस माह पूर्ण कर क्रियाशील हो जाएंगे। इस माह के अंत तक लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अधीन स्वास्थ्य संस्थाओं में 14 हजार 255 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स उपलब्ध हो जाएंगे।

प्रदेश के समस्त जिलों में जून 2021 की स्थिति में कुल 785 आईसीयू, एचडीयू बेड्स मय वेन्टिलेटर क्रियाशील थे। कुल 41 स्वास्थ्य संस्थाओं में 650 नवीन आईसीयू, एचडीयू बेड्स स्वीकृत किए गए जिनमें से 200 आईसीयू, एचडीयू बेड्स का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है। शेष आईसीयू, एचडीयू बेड्स का निर्माण अंतिम चरण में है। इस प्रकार अब स्वास्थ्य संस्थाओं में 1435 आईसीयू, एचडीयू बेड्स रोगियों के उपचार हेतु उपलब्ध हो जाएंगे।

जिला चिकित्सालयों में उपलब्ध 210 पीडीयाट्रिक आईसीयू बेड्स के अतिरिक्त नवीन 310 पीडीऐट्रिक आईसीयू बेड्स की स्वीकृति दी गई। इनमें से 100 का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है। शेष का निर्माण अंतिम चरण में है। इस माह के अंत में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अधीन आने वाली स्वास्थ्य संस्थाओं में 520 पीडीयाट्रिक आईसीयू बेड्स एवं 992 पीडीयाट्रिक ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स शिशुओं के उपचार हेतु उपलब्ध हो जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

कोतवाली के अंदर स्टोन क्रशर और रिजॉर्ट संचालक के साथ अभद्रता व मारपीट करना एक दरोगा को भारी पड़ गया

उत्तराखंड, रामनगर। कोतवाली के अंदर स्टोन क्रशर और रिजॉर्ट संचालक के साथ अभद्रता व मारपीट करना एक दरोगा को भारी पड़ गया। पुलिस महानिरीक्षक...

cell phone , मोबाइल फोन में नहीं चला पाएंगे 2 सिम, Airtel-Jio जैसी बड़ी कंपनियां देंगी ग्राहकों को झटका

♣   Mobile Phone, मोबाइल फोन   ♣ आज ज्यादातर हाथों में बड़े-बड़े स्मार्टफोन देखे जा सकते हैं. मोबाइल के कीपैड पर थिरकती उंगलियां इंसान की जिंदगी...

उत्तराखंड में सख्त धर्मांतरण कानून के बाद सीएम पुष्कर सिंह धामी का यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर बड़ा फैसला

 उत्तराखंड    देहरादून  धामी सरकार ने उत्तराखंड में सख्त धर्मांतरण कानून के बाद यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर बड़ा फैसला लिया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निभाया अपना वचन, शिवम की बहन कृतिका के विवाह में पहुँची आर्थिक सहायता

खुशी के आँसू लिये शिवम ने जताया मामा शिवराज का आभार मध्य-प्रदेश : मुख्यमंत्री ने कहा था कि शिवम चिंता मत करना। तुम्हारी बहन की शादी...

सचिवालय बैडमिंटन अन्तर्विभागीय प्रतियोगिता 17-19 दिसम्बर को

देहरादून ; उत्तराखण्ड सचिवालय बैडमिंटन क्लब की कार्यकारिणी की बैठक शुक्रवार को सचिवालय परिसर स्थित एफ0आर0डी०सी० भवन में आयोजित की गयी। बैठक में निर्णय लिया गया...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी उद्यान में रोपे पौधे

मध्य-प्रदेश, Bhopal ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी उद्यान में खिरनी, गुलमोहर और जंगल जलेबी के पौधे लगाए। विदिशा की लंकेश्वर समाज कल्याण...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बैतूल के कुंडबकाजन में मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान के स्वीकृति-पत्र वितरण कार्यक्रम में हुए शामिल

  मध्य-प्रदेश, बैतूल ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नया जमाना आ रहा है। अब प्रदेश में जनता का राज चलेगा, गड़बड़ करने...

सीएम धामी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से शिष्टाचार भेंट कर दी जन्मदिवस की शुभकामना

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को नई दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी नड्डा से शिष्टाचार भेंट की और...

पूर्ण हो रही गो-शालाओं में गो-वंश रखने का कार्य तेजी से हो : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई गो-संवर्धन बोर्ड की बैठक मध्य-प्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पूर्ण हो रही गो-शालाओं को तेजी से गो-वंश...

जल जीवन मिशन की परियोजनाओं को जल्दी से पूर्ण करें : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

उत्सवी माहौल में हों लोकार्पण मुख्यमंत्री ने की जल जीवन मिशन परियोजनाओं की समीक्षा मध्य-प्रदेश :  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जल जीवन मिशन...