Home उत्तराखंड उत्‍तराखंड में 305 करोड़ की वित्तीय गड़बड़ी

उत्‍तराखंड में 305 करोड़ की वित्तीय गड़बड़ी

देहरादून। भारत के नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) की रिपोर्ट में 305.75 करोड़ रुपये के कार्यों/योजनाओं में वित्तीय गड़बड़ी पकड़ी गई है। यह रिपोर्ट 31 मार्च, 2020 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के कार्यों की है।

शनिवार को इस रिपोर्ट को गैरसैंण में विधानसभा सत्र के दौरान पटल पर रखा गया। मुख्य रिपोर्ट में विभिन्न विभागों के लेखा परीक्षण के साथ ही भारत नेपाल सीमा सड़क परियोजना (टनकपुर-जौलजीबी मार्ग) की खामियों को विस्तृत ढंग से उजागर किया गया है। इसके अलावा कैग ने स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति को भी अलग रिपोर्ट के माध्यम से कठघरे में खड़ा किया है।

वित्तीय गड़बड़ि‍यों की बात करें तो टनकपुर-जौलजीबी मार्ग पर नियमों की अनदेखी व ठेकेदार की लापरवाही से सरकार पर 1.92 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ भी पड़ा। साथ ही इस परियोजना का थर्ड पार्टी ऑडिट भी न कराया जाना पाया गया। वहीं, 9.21 करोड़ रुपये के ऐसे व्यय थे, जिन्हें मनमर्जी से भिन्न मद में खर्च कर दिया गया। कैग ने इस बात पर भी आपत्ति लगाई है कि सामरिक महत्व की परियोजना अधिकारियों की लापरवाही से वर्ष 2012-13 से अब तक लंबित है।

इससे परियोजना की लागत भी बढ़ रही है। उधर, स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट में कैग ने बताया है कि रोगी भार के मुताबिक जो संसाधन राज्य में जुटाए जा रहे हैं, वह मार्च 2011 के शासनादेश के अनुरूप हैं। वर्ष 2014 से 19 तक इसमें किसी तरह के संशोधन नहीं किए गए। पर्वतीय क्षेत्रों में चिकित्सकों की भारी कमी है, जबकि मैदानी क्षेत्रों में यह अनुपात ठीक है। इसके अलावा भी तमाम बिंदुओं पर स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली को कठघरे में खड़ा किया गया है। कैग की रिपोर्ट लोनिवि, राजस्व/कर संबंधी विभागों आदि के कार्यों व सेवाओं की अनियमितता भी उजागर की गई हैं। कर वसूली में ही कैग ने 240 करोड़ रुपये से अधिक की क्षति सरकार को पहुंचाने का जिक्र रिपोर्ट में किया है।

चार साल में 52 फीसद बढ़ा राज्य का खर्च

कैग रिपोर्ट में वर्ष 2014-15 से वर्ष 2018-19 के दौरान राज्य की वित्तीय स्थिति पर भी फोकस किया गया है। बताया गया है कि राज्य के कुल खर्चे 26 हजार, 254 करोड़ रुपये से बढ़कर 38 हजार, 564 करोड़ रुपये हो गए हैं। यानी चार साल में खर्चों में 21 हजार, 164 करोड़ रुपये का इजाफा (52 फीसद) हुआ है। इन खर्चों में भी 81 से 84 फीसद सिर्फ राजस्व व्यय जैसे वेतन, प्रशासनिक आदि शामिल हैं। चार सालों में राजस्व व्यय 15 फीसद सालाना दर से बढ़ा, जबकि राजस्व प्राप्तियां 13 फीसद की सालाना औसत दर से ही बढ़ पाईं। थोड़ा राहत की बात यह जरूरी दिखी कि वर्ष 2017-18 में जो राजस्व प्राप्ति 27 हजार 105 करोड़ रुपये थी, वह वर्ष 2018-19 में बढ़कर 31 हजार 216 करोड़ रुपये हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

मुख्यमंत्री चौहान के साथ तंजानिया के प्रतिनिधि-मंडल ने पौध-रोपण किया

मध्य-प्रदेश ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट पार्क में तंजानिया के अतिथियों के साथ स्मार्ट पार्क (वाटर विजन पार्क) में पीपल, बरगद, खिरनी, गुलमोहर,...

मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान में चिन्हित हितग्राहियों को 5 फरवरी से मिलेगा योजना का लाभ

विकास यात्रा में गाँव-गाँव पहुँच कर करेंगे लाभान्वित : मुख्यमंत्री श्री चौहान योजनाओं से वंचित परिवारों को विकास यात्रा में करेंगे चिन्हित सभी वर्ग की पात्र...

राज्यपाल मंगुभाई पटेल के मुख्य आतिथ्य में बीटिंग द रिट्रीट सेरेमनी सम्पन्न

पुलिस और सेना के बैंड की प्रस्तुतियों ने किया मंत्रमुग्ध मध्यप्रदेश राज्यपाल मंगुभाई पटेल रविवार को राजधानी में ''बीटिंग द रिट्रीट'' सेरेमनी में शामिल हुए। मोती...

CM धामी ने बच्चों के साथ सुनी प्रधानमंत्री की मन की बात

देहरादून राष्ट्रीय दृष्टि दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान के बच्चों के साथ सुनी मन की बात सीएम ने संस्थान के बच्चों से भी की बातचीत ...

जन्म-भूमि का कर्ज उतारना हम सबका कर्त्तव्य : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

अपने गाँव, अपनी माटी को न भूलें, वर्ष में एक बार जरूर जाये आज मैं जो कुछ हूँ माँ नर्मदा और अपने गाँव जैत की...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सपत्नीक नर्मदा जयंती एवं नर्मदापुरम के गौरव दिवस समारोह में हुए शामिल, कहा लाड़ली लक्ष्मी योजना-2 के बाद अब लाड़ली...

महिलाओं को हर साल राज्य सरकार देगी 12 हजार रूपये योजना पर 5 वर्षों में अनुमानित 60 हजार करोड़ रूपये खर्च होंगे श्रीमहाकाल लोक की तरह...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नर्मदा जयंती पर किया पौध-रोपण

मध्य-प्रदेश ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज नर्मदा जयंती पर नागरिकों की उपस्थिति में श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट उद्यान (वाटर विजन पार्क) में बरगद,...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से महानगर भाजपा के प्रतिनिधियों ने भाजपा महानगर अध्यक्ष सिद्धार्थ अग्रवाल के नेतृत्व में की भेंट । ,

उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शनिवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित कैम्प कार्यालय में महानगर भाजपा के प्रतिनिधियों ने भाजपा महानगर अध्यक्ष श्री सिद्धार्थ अग्रवाल...

ग्राम पंचायत विकास अधिकारी एसोसिएशन ने किया महाराज का स्वागत

फंक्शनल मर्जर रुकवाने के लिए पंचायत मंत्री व मुख्यमंत्री का किया आभार व्यक्त देहरादून। फंक्शनल मर्जर रुकवाने के लिए ग्राम पंचायत विकास अधिकारी एसोसिएशन ने...

मार्गों के नवनिर्माण में नवीनतम तकनीक का प्रयोग करें : मंत्री सतपाल महाराज

चारधाम यात्रा तैयारियों को लेकर लोनिवि की समीक्षा बैठक देहरादून। चारधाम यात्रा को देखते हुए लोक निर्माण विभाग के सभी अधिकारियों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिए...