Saturday, November 26, 2022
Home अंतर्राष्ट्रीय जफर रुश्दी - कायरतापूर्ण हमले से एक आदमी की कलम को...

जफर रुश्दी – कायरतापूर्ण हमले से एक आदमी की कलम को चुप नहीं कराया जा सकता

न्यूयॉर्क;

मुंबई में जन्मे प्रख्तात लेखक सलमान रुश्दी अभी गंभीर स्थिति में हैं। हालांकि उनका सेंस ऑफ ह्यूमर बरकरार है। लेखक पर हमले को लेकर उनके बेटे और न्यूयॉर्क राज्य गवर्नर जफर रुश्दी ने कहा कि कायरतापूर्ण हमले से एक आदमी की कलम को चुप नहीं कराया जा सकता है।

75 वर्षीय रुश्दी को शनिवार को वेंटिलेटर से हटा दिया गया था। शुक्रवार को न्यूयॉर्क में एक साहित्यिक कार्यक्रम के मंच पर उनपर चाकू से हमला किया गया था। जिसके बाद बुरी तरह घायल हो गए थे और मंच पर ही गिर पड़े थे।

उनके बेटे जफर रुश्दी ने रविवार को कहा कि उनका परिवार बेहद राहत महसूस कर रहा है क्योंकि शनिवार को उनसे वेंटिलेटर और अतिरिक्त ऑक्सीजन को हटा दिया गया और वह कुछ शब्द कहने में सक्षम थे।

जफर ने ट्वीट में कहा, शुक्रवार को हमले के बाद से मेरे पिता की हालत गंभीर बनी हुई है। अस्पताल में उनका उपचार चल रहा है। उन पर लगी चोटें गंभीर हैं लेकिन उनका सेंस ऑफ ह्यूमर बरकार है।

आरोपी हमलवार की मां ने क्या कहा?
वहीं लेखक पर जानलेवा हमला करने के आरोपी 24 वर्षीय संदिग्ध की मां का कहना है कि उसके बेटे ने 2018 में मध्यपूर्व की यात्रा की। वहां से आने के बाद वह पूरी तरह से बदल गया। आरोपी की मां ने कहा कि उन्हें यह भी पता नहीं था कि जिस लेखक पर हमला किया गया है वह कौन हैं।

एक प्रमुख ब्रिटिश समाचार पत्र से बात करते हुए आरोपी हादी मटर की मां सिलवाना फरदोस ने कहा कि उनका बेटा 2018 में मध्यपूर्व की यात्रा के बाद चिड़चिड़ा हो गया था। वह किसी से ज्यादा बात नहीं करता था। वह पूरी तरह से बदल गया था।

उन्होंने कहा, मैं उम्मीद कर रही थी कि वह प्रेरित होकर वापस आएगा और अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करेगा और डिग्री हासिल करेगा जिससे उसे नौकरी मिल जाएगी। लेकिन इसके बजाय उसने खुद को तहखाने में बंद कर लिया। वह बहुत बदल गया था। उसने महीनों तक मुझसे या अपनी बहनों से कुछ भी नहीं कहा।

सिलवाना ने बताया कि लौटने के बाद उनका बेटा पहले से ज्यादा धार्मिक हो रहा था। उन्होंने कहा, वह मुझसे सख्त मुस्लिम परवरिश नहीं देने के लिए लड़ता था। उसने मुझे अपने बेसमेंट में जाने से भी रोक दिया था। आरोपी की मां ने कहा कि एक बार उसने मुझसे खूब बहस की थी। उसने पूछा कि मैंने उसे धर्म पर केंद्रित करने के बजाय शिक्षा हासिल करने के लिए क्यों प्रोत्साहित किया। वह नाराज था कि मैंने उसे छोटी उम्र से ही इस्लाम का पाठ नहीं पढ़ाया।

आरोपी की मां ने आगे बताया कि उन्होंने रुश्दी के बारे में पहले कभी नहीं सुना था। उन्हें पहली बार तब पता चला जब घटना के बाद शुक्रवार को उनकी बेटी का फोन आया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

4

3

2

1

मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने राजस्व वादों की समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व वादों के तेजी से निस्तारण के दिए निर्देश।

उत्तराखंड, देहरादून ; मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने शुक्रवार को सचिवालय में राजस्व वादों की समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व वादों के तेजी से...

नैनीताल में स्कूटी और बाइक की आमने- सामने से हुई जोरदार टक्कर, बाइक सवार की मौके पर मौत

नैनीताल। भवाली रोड पर स्कूटी और बाइक में आमने-सामने से जोरदार टक्कर हो गई, जिससे बाइक सवार की मौत हो गई, जबकि उसका साथी और...

 सीएम पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री गिरिराज सिंह का आभार  जताया

 डबल इंजन का प्रदेश को मिल रहा फायदा :  सीएम धामी देहरादून ; केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण में उत्तराखण्ड के लिये 18602 अतिरिक्त...

10 दिसंबर होने वाली आईएमए की पासिंग आउट परेड में देश-विदेश के कैडेट बनेंगे सेना का अभिन्न अंग

देहरादून।  भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) में पासिंग आउट परेड आगामी 10 दिसंबर को होगी। इसमें देश-विदेश के जेंटलमैन कैडेट बतौर अधिकारी बनकर अपने-अपने देश की...

मुख्यमंत्री चौहान ने पर्यावरण प्रेमी संस्था के सदस्यों के साथ लगाए पौधे, पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने अपने जन्म-दिन पर किया पौध-रोपण

मध्य-प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी पार्क में अशोक, शहतूत, केसिया और सामिया के पौधे लगाए। मुख्यमंत्री चौहान के साथ भोपाल के पूर्व...

मध्यप्रदेश में भी लगाएंगे बहुआयामी कृषि प्रदर्शनी, लागू करेंगे नवाचार – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि किसानों की आर्थिक समृद्धि के लिए मध्यप्रदेश में अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। गेहूँ...