Home मध्यप्रदेश रेल मार्ग से ऑक्सीजन लेकर आज आएंगे 6 टैंकर: मुख्यमंत्री चौहान ,मध्य...

रेल मार्ग से ऑक्सीजन लेकर आज आएंगे 6 टैंकर: मुख्यमंत्री चौहान ,मध्य प्रदेश

MADHYA PRADESH :

भोपाल आएगी 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन

राज्य सरकार प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिये भरसक प्रयास कर रही है। इन प्रयासों को अब सफलता मिलनी शुरू हो गई है। भारत सरकार के सहयोग से मध्यप्रदेश में त्वरित ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन मंगलवार को सुबह साढ़े 5 बजे बोकारो (झारखण्ड) से रवाना हो चुकी है। इस ट्रेन से ऑक्सीजन के 6 टैंकर में 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भोपाल पहुँचेगी।

      मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिये हर मोर्चे पर कार्य कर रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सहित केन्द्र के अनेक मंत्रालयों में सम्पर्क कर केन्द्रीय मंत्रियों से भी ऑक्सीजन आपूर्ति के लिये आग्रह किया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि समेकित प्रयासों से मध्यप्रदेश को आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन मिलना शुरू हो गई है। प्रदेश के भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट से इंडियन एयरफोर्स के विशेष विमानों से ऑक्सीजन टैंकर प्रतिदिन बोकारो और जामनगर भेजे जा रहे हैं। मध्यप्रदेश के लिये यह राहत की बात है कि जो टैंकर भेजे गए उनमें से पहली खेप में ट्रेन द्वारा 6 टैंकर 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन लेकर बुधवार की सुबह भोपाल आ जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भारत सरकार द्वारा दिये जा रहे सहयोग के लिये प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आभार माना है।  

643 मी. टन प्रतिदिन ऑक्सीजन आपूर्ति की स्वीकृति

      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि केंद्र सरकार से 22 अप्रैल से 643 मीट्रिक टन प्रतिदिन ऑक्सीजन आपूर्ति की स्वीकृति मिली है। रेल मंत्रालय के सहयोग से त्वरित रूप से ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित हो रही है। इसी प्रकार मध्यप्रदेश पशुधन विकास निगम के 4 टैंकर ऑक्सीजन भरकर लाने के लिए अंगुल (ओडिशा) भी भेजे गए हैं, जिनमें 23 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आएगी। ये सभी टैंकर भी कल मध्यप्रदेश आ जायेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि कल प्रदेश में 527.69 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई। आज प्रदेश को कुल 533 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त होने की संभावना है।

      प्रदेश में ऑक्सीजन के त्वरित परिवहन के लिए केन्द्रीय गृह मंत्रालय के सहयोग से झारखण्ड के बोकारो एवं गुजरात के जामनगर स्थित ऑक्सीजन उत्पादकों से ऑक्सीजन टैंकर एयरलिफ्ट कर इंदौर, भोपाल एवं ग्वालियर लाये जा रहे हैं। भारतीय वायु सेना की उड़ानों के फेरों के माध्यम से गत 24 अप्रैल से जारी यह कार्यवाही एक मई तक लगातार जारी रहेगी।

2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे

      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति को सुचारू बनाने के लिये राज्य सरकार द्वारा 2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे गये हैं। प्रदेश के 34 जिलों में स्थानीय व्यवस्था से एक हजार से अधिक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स लगाए जा चुके हैं। कौंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च, भारत सरकार द्वारा अधिकृत संस्था के माध्यम से प्रदेश के 5 जिला चिकित्सालयों भोपाल, रीवा, इंदौर ग्वालियर और शहडोल में नवीनतम वीपीएसए तकनीक आधारित ऑक्सीजन प्लांट्स एक करोड़ 60 लाख रुपये की लागत से लगाये जा रहे हैं। इनमें 300 से 400 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन बनेगी जो लगभग 50 बेड्स के लिए पर्याप्त होगी। इस नवीनतम तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है।

ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट

      इसी प्रकार रक्षा मंत्रालय की एजेंसी डीआरडीओ द्वारा अस्पताल में ही नयी डेबेल तकनीक के आधार पर चलने वाले ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट विकसित किये गए हैं। मध्यप्रदेश के 8 जिलों बालाघाट, धार, दमोह, जबलपुर, बड़वानी, शहडोल, सतना और मंदसौर में 5 करोड़ 87 लाख रुपये से अधिक की लागत के इसी तकनीक आधारित 570 लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाले ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट लगाए जा रहे हैं।

पीएसए तकनीक आधारित 8 ऑक्सीजन प्लांट्स स्वीकृत

      प्रदेश के 8 जिलों में भारत सरकार के सहयोग से पीएसए तकनीक आधारित 8 ऑक्सीजन प्लांट्स स्वीकृत हुए हैं, जिनमें से 6 प्लांट्स ने कार्य करना प्रारंभ कर दिया है। प्रदेश के 37 जिलों के लिए राज्य सरकार स्वयं के बजट से जिला अस्पतालों में पीएसए तकनीक से तैयार होने वाले नए ऑक्सीजन प्लांट्स लगा रही है। इनमें से प्रथम चरण में 16 मई तक 13 जिलों में प्लांट प्रारंभ हो जायेंगे। द्वितीय चरण में 9 जिलों में प्लांट 23 मई तक चालू हो जायेंगे। तृतीय चरण में शेष 15 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट्स 20 जुलाई तक प्रारंभ करने का लक्ष्य है।

      प्रदेश मे स्थित थर्मल पॉवर स्टेशंस के माध्यम से खंडवा और सारणी में 7000 लीटर क्षमता वाले नए ऑक्सीजन प्लांट अगले 3 सप्ताह में तैयार हो जाएंगे। इन प्लांट से लगभग 200 सिलेंडर ऑक्सीजन प्रतिदिन प्राप्त हो सकेगी।

1058 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप लाइन का कार्य पूर्ण

       प्रदेश के सरकारी अस्पतालों के बेड्स को ऑक्सीजन बेड्स में परिवर्तित करने के लिए पाइप लाइन डालने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। जिला अस्पतालों के 2,302 बिस्तरों में से अब तक 1058 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप लाइन डालने का कार्य पूर्ण हो चुका है। प्रदेश के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के 4643 बिस्तरों में से अब तक 304 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप लाइन डाली जा चुकी है।

      प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता पर 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है। ऑक्सीजन की आपूर्ति की मॉनिटरिंग के लिये कंट्रोलर, फूड एंड ड्रग सेफ्टी को प्रभारी बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

जन्म-भूमि का कर्ज उतारना हम सबका कर्त्तव्य : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

अपने गाँव, अपनी माटी को न भूलें, वर्ष में एक बार जरूर जाये आज मैं जो कुछ हूँ माँ नर्मदा और अपने गाँव जैत की...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सपत्नीक नर्मदा जयंती एवं नर्मदापुरम के गौरव दिवस समारोह में हुए शामिल, कहा लाड़ली लक्ष्मी योजना-2 के बाद अब लाड़ली...

महिलाओं को हर साल राज्य सरकार देगी 12 हजार रूपये योजना पर 5 वर्षों में अनुमानित 60 हजार करोड़ रूपये खर्च होंगे श्रीमहाकाल लोक की तरह...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नर्मदा जयंती पर किया पौध-रोपण

मध्य-प्रदेश ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज नर्मदा जयंती पर नागरिकों की उपस्थिति में श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट उद्यान (वाटर विजन पार्क) में बरगद,...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से महानगर भाजपा के प्रतिनिधियों ने भाजपा महानगर अध्यक्ष सिद्धार्थ अग्रवाल के नेतृत्व में की भेंट । ,

उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शनिवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित कैम्प कार्यालय में महानगर भाजपा के प्रतिनिधियों ने भाजपा महानगर अध्यक्ष श्री सिद्धार्थ अग्रवाल...

ग्राम पंचायत विकास अधिकारी एसोसिएशन ने किया महाराज का स्वागत

फंक्शनल मर्जर रुकवाने के लिए पंचायत मंत्री व मुख्यमंत्री का किया आभार व्यक्त देहरादून। फंक्शनल मर्जर रुकवाने के लिए ग्राम पंचायत विकास अधिकारी एसोसिएशन ने...

मार्गों के नवनिर्माण में नवीनतम तकनीक का प्रयोग करें : मंत्री सतपाल महाराज

चारधाम यात्रा तैयारियों को लेकर लोनिवि की समीक्षा बैठक देहरादून। चारधाम यात्रा को देखते हुए लोक निर्माण विभाग के सभी अधिकारियों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिए...

रंत रैबार संस्था का करियर काउंसलिंग कार्यक्रम : विद्यार्थियों को मिला मार्गदर्शन, हर क्षेत्र से जुड़े स्कोप के बारे में बताया गया

यमकेश्वर। यमकेश्वर विधानसभा के जनता इण्टर कॉलेज किमसार के सभागार में बच्चों के उज्ज्वल भविष्य एवं मार्गदर्शन के लिए करियर गाइडेंस व काउंसलिग कार्यक्रम हुआ।...

सोशल मीडिया प्लेटफार्म ने कम्युनिकेशन में ला दी है नई क्रान्ति – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री ने नेशलिस्ट सोशल मीडिया कॉन्क्लेव का शुभारम्भ किया मध्य-प्रदेश,  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पहले अखबार और टीवी प्रमुखता से मीडिया में...

बाबा रामदेव बोले – पाकिस्तान के बहुत जल्दी होंगे 4 टुकड़े होंगे, पीओके और पंजाब अलग राष्ट्र बनेंगे, पीओके का भी भारत में होगा...

हरिद्वार। योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा है कि बहुत जल्द पाकिस्तान के चार टुकड़े होंगे और वह विश्व के नक्शे पर अस्तित्व विहीन हो...

नवनियुक्त आरक्षक वर्दी की मर्यादा को कभी न भूलें- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

म.प्र. पुलिस का चेहरा संवेदनशीलता, वीरता, देश भक्ति और अनुशासन का गर्व और गौरव के साथ मध्यप्रदेश पुलिस की साख को बनाएँ मुख्यमंत्री ने 6 हजार...