Home अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देंगे अशरफ गनी, परिवार के साथ अफगानिस्तान छोड़ने...

राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देंगे अशरफ गनी, परिवार के साथ अफगानिस्तान छोड़ने की तैयारी- सूत्र

अफगानिस्तान (Afganistan) में तालिबान राजधानी काबूल के बिल्कुल करीब पहुंच चुका है. इस बीच शांति वार्ता समिति नया मसौदा तैयार करने में लगी हुई है, जिसमें राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) की सरकार की पूरी तरह से बेदखली हो सकती है.

काबुल. 

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं. सूत्रों ने News18 को बताया कि अफगानिस्तान के विभिन्न प्रांतों में जारी हमलों को रोकने और तालिबान के साथ तत्काल संघर्षविराम समझौते पर पहुंचने के मकसद से यह कदम उठाया जा सकता है. सूत्रों ने बताया कि गनी इस्तीफे के बाद अपने परिवार के साथ किसी ‘तीसरे देश’ जा सकते हैं. हालांकि अफगानिस्तान के पहले उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह इस कदम से सहमत नहीं.

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी शहर के बचाव की कोशिशों के तहत बुधवार को मजार-ए-शरीफ गए थे और उन्होंने सरकार से संबद्ध कई मिलिशिया कमांडरों के साथ बैठक की थी. टोलो न्यूज़ के मुताबिक, यहां उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, आपका राष्ट्रपति होने के नाते मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि मेरा पूरा ध्यान हिंसा और खूनखराबे रोकने पर है. मैं अफगानिस्तान में युद्ध जारी रहने और 20 वर्षों में हमने जो कुछ हासिल किया है, उसे बर्बाद करने की इजाजत नहीं दे सकता.

बता दें कि अफगानिस्तान (Afganistan) में तालिबान राजधानी काबूल के बिल्कुल करीब पहुंच चुका है. इस बीच शांति वार्ता समिति नया मसौदा तैयार करने में लगी हुई है, जिसमें राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) की सरकार की पूरी तरह से बेदखली हो सकती है.

सीएनएन-न्यूज 18 (CNN News18) को उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया है अफगानिस्तान में युद्ध विराम के लिए जिस नए फॉर्मूले पर मंथन चल रहा है, उसके तहत तालिबान, सेना अधिकारियों और कुछ वर्तमान प्रतिनिधियों के साथ अंतरिम सरकार बनाई जाएगी. तमाम विचार विमर्श के बाद ये फॉर्मूला सभी संबंधित दलों के साथ साझा किया जाएगा. चूंकि ये अभी प्रारंभिक स्तर पर है, इसलिए योजना किसी भी साझेदार के साथ शेयर नहीं की गई है चाहे फिर वो अफगान सरकार हो या फिर तालिबान.

अमेरिकी मरीन बटालियन का 3000 कर्मियों का दस्ता काबुल पहुंचा

अफगानिस्तान में तालिबान के तेजी से पैर पसारने के बीच अमेरिकी दूतावास को आंशिक रूप से खाली करने में मदद करने के लिए अमेरिका की मरीन बटालियन का 3,000 कर्मियों का दस्ता शुक्रवार को यहां पहुंचा. शेष जवानों के रविवार को पहुंचने की संभावना है। हालांकि अतिरिक्त सैनिकों के अफगानिस्तान पहुंचने से यह सवाल खड़ा हो गया है कि क्या अमेरिका सैनिकों की वापसी का काम 31 अगस्त की समयसीमा के भीतर पूरा कर पाएगा या नहीं.

काबुल की दहलीज पर पहुंचा तालिबान

उधर तालिबान ने शनिवार तड़के काबुल के दक्षिण में स्थित लागूर प्रांत पर कब्जा कर लिया और देश के उत्तर में स्थित अहम शहर मजार-ए-शरीफ पर चौतरफा हमला शुरू कर दिया. लोगार से सांसद होमा अहमदी ने बताया कि तालिबान ने पूरे प्रांत पर कब्जा कर लिया है, जिसमें उनकी राजधानी भी शामिल है और तालिबान शनिवार को पड़ोसी काबुल प्रांत के एक जिले में पहुंच गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

हरिद्वार पंचायत चुनाव के विजयी प्रत्याशियों ने मुख्यमंत्री से की भेंट, मुख्यमंत्री ने स्वागत कर सभी को दी शुभकामनायें।

देहरादून ... मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से सोमवार को मुख्यमंत्री आवास कार्यालय स्थित मुख्य सेवक सदन में हरिद्वार पंचायत चुनाव के विजयी प्रत्याशियों ने भेंट...

लाल कोठी के जीर्णोद्धार का आधार धरोहर स्वरूप का संरक्षण हो : राज्यपाल पटेल

मध्यप्रदेश / भोपाल   राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि लाल कोठी के धरोहर स्वरूप का संरक्षण जीर्णोद्धार कार्य का आधार होना चाहिए। यह अनिवार्यत:...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 11 अक्टूबर की शाम 6 बजे श्री महाकाल लोक का करेंगे लोकार्पण ।

मध्यप्रदेश, उज्जैन; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि "श्री महाकाल लोक" का लोकार्पण समाज को एक दिशा में ले जाने का अद्भुत समारोह...

क्षेत्र के विकास के लिये मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने की अनेक घोषणांयें।

 उत्तराखंड, चंपावत     मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को चंपावत स्थित श्री घटोत्कच मंदिर में आयोजित घटोत्कच महोत्सव में प्रतिभाग कर घटोत्कच मंदिर...

CM चौहान ने बाढ़ और अतिवृष्टि से हुए फसलों के नुकसान पर किसानों को अंतरित किए 202.64 करोड़ रूपये

मध्यप्रदेश  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इस मानसून में अधिक वर्षा के कारण जहाँ शहरी क्षेत्र में व्यवस्थाएँ प्रभावित हुईं, वहीं ग्रामीण...

सीएम पुष्कर सिंह धामी : उत्तराखंड में अगले पांच वर्षों में पांच नए शहर बनाएंगे

उत्तराखंड, काशीपुर सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हम सर्वश्रेष्ठ उत्तराखंड बनाने के मार्ग पर अग्रसर हैं और सभी परियोजनाएं...

अल्मोड़ा में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज एकेडमी द्वारा 10 October को लगेगा रोजगार मेला

अल्मोड़ा; सहायक क्षेत्रीय सेवायोजन अधिकारी भगवती धर्मशक्तू ने बताया कि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज एकेडमी द्वारा दस अक्टूबर को सुबह दस बजे से क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय,...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने करंज, बरगद और गुलमोहर के पौधे लगाए

मध्यप्रदेश, Bhopal मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज बुंदेलखंड विकास एवं पर्यावरण समिति, भोपाल के सदस्यों के साथ स्मार्ट सिटी उद्यान में करंज, बरगद और...

महाराज ने किया उत्तराखंड का पहला ओटीटी प्लेटफॉर्म ऐप लॉच

देहरादून। प्रदेश के लोक निर्माण, पर्यटन, सिंचाई, लघु सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, पंचायती राज, जलागम प्रबन्धन, संस्कृति, धर्मस्व भारत-नेपाल उत्तराखण्ड नदी परियोजना मंत्री सतपाल महाराज...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सभी गरीबों को घर का सपना हो रहा साकार : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

इन 9 योजनाओं में 7776 मकान बनाए जाएंगे देहरादून ; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रमानुसार प्रेक्षागृह प्रांगण उदयराज हिंदू इंटर कॉलेज पहुंचकर...