Tuesday, July 5, 2022
Home उत्तर प्रदेश उत्तरप्रदेश में निवेश के लिए बना बेहतर माहौल, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में मिले...

उत्तरप्रदेश में निवेश के लिए बना बेहतर माहौल, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में मिले 13,408.19 करोड़ के 98 प्रस्ताव

CM योगी आदित्यनाथ की बेहतर नीतियों और औद्योगिक नीतियों में किए गए सकारात्मक बदलाव और निवेश को बढ़ावा देने के लिए तैयार किए गए अनुकूल माहौल के चलते ही मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर तेजी से पांव फैला रहा है.

लखनऊ :

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की औद्योगिक नीतियों में किए गए बदलाव और राज्य में औद्योगिक निवेश को बढ़ावा देने के लिए तैयार किए गए अनुकूल माहौल के चलते ही मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर तेजी से पांव फैला रहा है. औद्योगिक विकास विभाग के आंकड़े इसका खुलासा करते हैं. इन आकंड़ों के अनुसार, मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में 13,408.19 करोड़ रुपए के 98 निवेश प्रस्ताव साढ़े तीन वर्षों के दौरान सरकार को प्राप्त हुए. इन निवेश प्रस्ताव में 10 प्रस्ताव विदेशी निवेशकों के हैं, जो राज्य में 4250 करोड़ रुपए का निवेश करना चाहते हैं. सूबे में बड़ी मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट लगाने के लिए देशी कंपनियों के जो 88 प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं, उनमें 22, 028 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा.

मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में फैक्ट्री लगा रहे 88 में से 66 बड़े उद्योगपतियों को सरकार ने जमीन मुहैया करा दी है और इनमें से अधिकांश में निर्माण कार्य पूरा हो कर उत्पादन होने लगा है. इसके अलावा 26 बड़े उद्योगपति अपनी फैक्ट्री के निर्माण संबंधी कार्रवाई कर रहे हैं. अधिकारियों के अनुसार, कोवस्ट्रो आईपी ने गौतमबुद्ध नगर (नोयडा) में 800 करोड़ रुपए का निवेश प्लास्टिक उत्पादन की यूनिट लगाने में कर रही हैं. इसी प्रकार अल्ट्राटेक कंपनी 600 करोड़ रुपए का निवेश कर प्रयागराज में सीमेंट की फैक्ट्री लगा रही है. स्पर्श इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड ने 600 करोड़ रुपए और रिमझिम इस्पात ने 550 करोड़ का निवेश कानपुर देहात में किया है.

डीसीएम श्रीराम 361 करोड़ रुपए का निवेश कर हरदोई में चीनी मिल लगा रही है. केंट आरओ सिस्टम्स लिमिटेड ने 300 करोड़ का निवेश गौतमबुद्धनगर, पीटीसी इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने लखनऊ में 205 करोड़ का निवेश किया है. एमएम फॉरगिंग्स प्राइवेट लिमिटेड ने 150 करोड़ का निवेश बाराबंकी में किया है. पासवर पेपर्स ने मेरठ में 351 करोड़ रुपए का सिल्वरस्टोन ने मुजफ्फरनगर में 180 करोड़ रुपए निवेश पेपर मिल लगाने में किया है. इन सभी कंपनियों ने उत्पादन भी शुरू कर दिया है. इसके अलावा कनोडिया ग्रुप अमेठी में 1200 करोड़ रुपए तथा जेके सीमेंट लिमिटेड अलीगढ़ में 650 करोड़ रुपए का निवेश सीमेंट की फैक्ट्री लगाने में कर रहें हैं.

मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में हो रहा यह निवेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा तैयारी कराई गई औद्योगिक नीतियों और उद्योपतियों के राज्य में निवेश करने के लिए बनाए गए माहौल के चलते ही हो रहा है. फिक्की जैसे बड़े उद्योग संगठन का कहना है कि राज्य में निवेश को बढ़ावा देने संबंधी सरकार पारदर्शी नीतियों से प्रभावित होकर ही बड़े बड़े निवेशकों ने यूपी में निवेश करने की पहल की है. अब किसी भी उद्योगपति को एक काम के लिए कई विभागों में दौड़ना नहीं पड़ता. जबकि चार साल पहले हर उद्योगपति को पहले कई विभागों से अनुमति व प्रमाण पत्र के लिए जूझना पड़ता था. अब एकल विंडो व ऑनलाइन व्यवस्था एवं नई-नई टेक्नोलॉजी के प्रयोग से काम में पारदर्शिता के साथ तेजी आई है. इससे उद्यमियों की मुश्किलें आसान हुई हैं.

निवेश मित्र पोर्टल से सवा तीन साल में 3,52,098 उद्योगों को दी गई एनओसी, इसका प्रमाण है. राज्य में निवेश करने को लेकर बदले माहौल को लेकर फिक्की के राज्य प्रमुख अमित गुप्ता कहते हैं कि यूपी में पहले की सरकारें सिर्फ कहती थीं, करती कुछ नहीं थीं. इसलिए, उद्यमियों को उन पर भरोसा नहीं होता था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर उद्योपतियों का पूरा भरोसा है कि वह  जो कहेंगे, उसे पूरा भी करेंगे. इसलिए, बड़े उद्योगपति यहां निवेश कर रहे हैं. प्रदेश सरकार के अधिकारी भी राज्य में निवेश करने आ रहे हर उद्योगपति की मदद कर रहें हैं. जिसके चलते ही उद्योगपति की नजर में अब उत्तर प्रदेश निवेश के लिए सबसे बेहतर राज्य बन गया है. देश के प्रमुख उद्योगपतियों का हर सेक्टर में किया जा रहा निवेश तथा कोरोना संकट के समय भी यूपी में निवेश संबंधी प्रस्तावों का आना यही जाहिर कर रहा है.

source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

दस्तक अभियान में प्लानिंग और प्रशिक्षण पर दें पर्याप्त ध्यान : स्वास्थ्य आयुक्त

मध्य-प्रदेश ; दस्तक अभियान के पहले कार्य-योजना तैयार करने और अभियान से जुड़े अमले को प्रशिक्षण देने पर पर्याप्त ध्यान दिया जाये। दस्तक अभियान की...

हरिद्वार में कांवड़ यात्रा के लिए स्वास्थ्य विभाग ने बनाई कार्ययोजना, यात्रियों के लिए 18 स्थानों पर बनाए जांएगे स्वास्थ्य केंद्र

हरिद्वार।  कांवड़ मेले में आने वाले शिवभक्तों को स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कार्ययोजना बनानी शुरू कर दी है। सीएमओ ने कांवड़...

अभी तक श्री बदरीनाथ नौ लाख पंद्रह हजार, केदारनाथ आठ लाख सैंतालीस हजार , गंगोत्री पहुंचे चार लाख सैंतीस हजार तथा यमुनोत्री पहुंचे तीन...

देहरादून।  चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ा है आज तक 25 लाख 38 हजार दो सौ सत्तासी तीर्थयात्री उत्तराखंड चारधाम दर्शन हेतु पहुंच गये...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने की भगवान श्री तिरुपति बालाजी मन्दिर में पूजा- अर्चना

  उत्तराखंड  देहरादून।   मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामीआंध्र प्रदेश के दौरे पर पहुंचे हुए है, इस दौरान सीएम ने आज तिरुमाला पर्वत पर स्थित भगवान...

44वें शतरंज ओलिंपियाड की मशाल पहुँची भोपाल, खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया को ग्रैंड मास्टर अनुराग महामल ने सौंपी टॉर्च

मध्य-प्रदेश ; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 19 जून को रवाना की गई 44वें शतरंज ओलिंपियाड की मशाल रिले 4 जुलाई सोमवार को भोपाल पहुँची। ग्रैंड...

गोट वैली विलेज मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना और एम्पेक्स कंप्यूटराइजेशन में तेजी लाने को सचिव सहकारिता ने दिए निर्देश

 देहरादून केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 63,000 पैक्स समितियों के कंप्यूटरीकरण के लिए 2,516 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की है। प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल...

एकनाथ शिंद ने साबित किया बहुमत, फडणवीस बोले हां, महाराष्ट्र में ईडी की सरकार है, विपक्ष को समझाया ईडी का मतलब

महाराष्ट्र। महाराष्ट्र विधानसभा में आज एकनाथ शिंदे नीत भाजपा शिवसेना के बागी गुट की सरकार ने बहुमत साबित कर दिया। विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा...