Home मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री चौहान कालबेलिया समुदाय के हस्त कौशल से हुए रूबरू

मुख्यमंत्री चौहान कालबेलिया समुदाय के हस्त कौशल से हुए रूबरू

फैशन डिजाइनर करेंगे कालबेलिया समाज द्वारा बनाए वस्त्रों की मार्केटिंग
मुख्यमंत्री चौहान ने जनजातीय संग्रहालय में निस्पंदन शिविर का किया अवलोकन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कालबेलिया समुदाय के हस्त कौशल पर आयोजित एकाग्र शिविर निस्पंदन का अवलोकन किया। जनजातीय संग्रहालय में आयोजित शिविर में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कालबेलिया समुदाय द्वारा निर्मित गुदड़ी, मनका आभूषण, कांच के कलात्मक कार्य, सुरमा निर्माण तथा देशज व्यंजनों का अवलोकन किया।

चिन्हारी सोविनियर शॉप पर उपलब्ध होंगे कालबेलिया समुदाय के उत्पाद

प्रमुख सचिव संस्कृति तथा जनसम्पर्क श्री शिव शेखर शुक्ला ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को अवगत कराया कि कालबेलिया समुदाय गुदड़ी के साथ अन्य वस्त्र बनाने में निपुण हैं। इस समुदाय द्वारा बनाये गये गुदड़ी तथा अन्य वस्त्रों की डिजाइनिंग के लिए फैशन डिजाइनर्स को समुदाय के कलाकारों को जोड़ा जाएगा। फैशन डिजाइनर्स के माध्यम से मार्केटिंग की गतिविधियाँ संचालित की जाएंगी। समुदाय की आय में वृद्धि के उद्देश्य से यह गतिविधियाँ संचालित की जा रही हैं। इनके उत्पादों की बिक्री मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय की चिन्हारी सोविनियर शॉप के माध्यम से भी की जाएगी।

मनका आभूषण, सुरमा बनाने में निपुण हैं कालबेलिया

साज-सज्जा सामग्री तथा जीवन की जरूरतों के लिए अन्य सामान जैसे मनका आभूषण, काँच पर कलात्मक कार्य, सुरमा, जड़ी-बुटी और पत्थर टांकने जैसे कार्य भी समुदाय द्वारा कलात्मक रूप से किये जाते हैं। इन उत्पादों को शिल्प कला के रूप में स्थापित करने और नगरीय समाज में इसे प्रचारित कर स्वीकार्य बनाने के लिए भी प्रयास आरंभ किये गये हैं। मध्यप्रदेश के कलाकारों को इन कार्यों में प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए राजस्थान से कालबेलिया समुदाय के ग्यारह कलाकारों को आमंत्रित किया गया है। प्रथम कला शिविर में प्रदेश के 30 कलाकारों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

3 सितम्बर 2021 तक जारी रहेगा कला शिविर 

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 30 घुमन्तु अर्द्धघुमन्तु और विमुक्त जातियाँ निवासरत हैं। इन जनजातियों की सांस्कृतिक परंपरा का अब तक किसी भी प्रकार का अध्ययन नहीं हुआ है। उनके कला वैशिष्ट का रेखांकन भी नहीं हुआ है। संस्कृति विभाग ने ऐसे समुदायों की कला और कलात्मक प्रतिभा को एक शिल्प परंपरा के रूप में स्थापित करने के लिए कार्य शुरू किया है। इन समुदायों की जातीय विशिष्टता के रूपाकारों को केन्द्र में रखकर कला शिविरों की एक श्रृंखला आरंभ की गई है। पहले शिविर के रूप में मध्यप्रदेश की कालबेलिया घुमन्तू  जनजाति की गुदड़ी निर्माण को रेखांकित करने के उद्देश्य से कला शिविर का आयोजन 25 अगस्त से आरंभ हुआ है, जो 3 सितम्बर 2021 तक जनजातीय संग्रहालय में जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

जन्म-भूमि का कर्ज उतारना हम सबका कर्त्तव्य : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

अपने गाँव, अपनी माटी को न भूलें, वर्ष में एक बार जरूर जाये आज मैं जो कुछ हूँ माँ नर्मदा और अपने गाँव जैत की...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सपत्नीक नर्मदा जयंती एवं नर्मदापुरम के गौरव दिवस समारोह में हुए शामिल, कहा लाड़ली लक्ष्मी योजना-2 के बाद अब लाड़ली...

महिलाओं को हर साल राज्य सरकार देगी 12 हजार रूपये योजना पर 5 वर्षों में अनुमानित 60 हजार करोड़ रूपये खर्च होंगे श्रीमहाकाल लोक की तरह...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नर्मदा जयंती पर किया पौध-रोपण

मध्य-प्रदेश ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज नर्मदा जयंती पर नागरिकों की उपस्थिति में श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट उद्यान (वाटर विजन पार्क) में बरगद,...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से महानगर भाजपा के प्रतिनिधियों ने भाजपा महानगर अध्यक्ष सिद्धार्थ अग्रवाल के नेतृत्व में की भेंट । ,

उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शनिवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित कैम्प कार्यालय में महानगर भाजपा के प्रतिनिधियों ने भाजपा महानगर अध्यक्ष श्री सिद्धार्थ अग्रवाल...

ग्राम पंचायत विकास अधिकारी एसोसिएशन ने किया महाराज का स्वागत

फंक्शनल मर्जर रुकवाने के लिए पंचायत मंत्री व मुख्यमंत्री का किया आभार व्यक्त देहरादून। फंक्शनल मर्जर रुकवाने के लिए ग्राम पंचायत विकास अधिकारी एसोसिएशन ने...

मार्गों के नवनिर्माण में नवीनतम तकनीक का प्रयोग करें : मंत्री सतपाल महाराज

चारधाम यात्रा तैयारियों को लेकर लोनिवि की समीक्षा बैठक देहरादून। चारधाम यात्रा को देखते हुए लोक निर्माण विभाग के सभी अधिकारियों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिए...

रंत रैबार संस्था का करियर काउंसलिंग कार्यक्रम : विद्यार्थियों को मिला मार्गदर्शन, हर क्षेत्र से जुड़े स्कोप के बारे में बताया गया

यमकेश्वर। यमकेश्वर विधानसभा के जनता इण्टर कॉलेज किमसार के सभागार में बच्चों के उज्ज्वल भविष्य एवं मार्गदर्शन के लिए करियर गाइडेंस व काउंसलिग कार्यक्रम हुआ।...

सोशल मीडिया प्लेटफार्म ने कम्युनिकेशन में ला दी है नई क्रान्ति – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री ने नेशलिस्ट सोशल मीडिया कॉन्क्लेव का शुभारम्भ किया मध्य-प्रदेश,  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पहले अखबार और टीवी प्रमुखता से मीडिया में...

बाबा रामदेव बोले – पाकिस्तान के बहुत जल्दी होंगे 4 टुकड़े होंगे, पीओके और पंजाब अलग राष्ट्र बनेंगे, पीओके का भी भारत में होगा...

हरिद्वार। योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा है कि बहुत जल्द पाकिस्तान के चार टुकड़े होंगे और वह विश्व के नक्शे पर अस्तित्व विहीन हो...

नवनियुक्त आरक्षक वर्दी की मर्यादा को कभी न भूलें- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

म.प्र. पुलिस का चेहरा संवेदनशीलता, वीरता, देश भक्ति और अनुशासन का गर्व और गौरव के साथ मध्यप्रदेश पुलिस की साख को बनाएँ मुख्यमंत्री ने 6 हजार...