Breaking News
उत्तराखंड की सोशल मीडिया एक्टिविटीज की भारत निर्वाचन आयोग ने की सराहना – रवि बिजारनीया
क्षेत्रीय विधायक डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने पीएम मोदी के देवभूमि आगमन पर किया अभिनंदन
कांग्रेस की कमजोर सरकार सीमा पर आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं बना पाई – प्रधानमंत्री मोदी
पीएम मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री बनेंगे – धामी
मैदान का फाइनल ट्रेलर जारी, भारतीय फुटबॉल टीम के कोच के किरदार में दमदार लगे अजय देवगन
उत्तराखण्ड के 5892 पोलिंग स्टेशन में वेबकास्टिंग की व्यवस्था होगी
बुजुर्गों और दिव्यांगजनों के वोट संग आठ अप्रैल से शुरु होगी लोकतंत्र के महापर्व की शुरुआत
केदारनाथ यात्रा में क्यूआर कोड के माध्यम से होगी प्लास्टिक पैकिंग पेय व खाद्य पदार्थाें की बिक्री
एसजीआरआरयू के योग छात्र सुमेर ने राष्ट्रीय योग चैम्पियनशिप में लहराया परचम

ईडी ने सपा के विनय तिवारी और टीएमसी के शेख शाहजहां के 10 ठिकानों पर की छापेमारी

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को एक कथित बैंक धोखाधड़ी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में समाजवादी पार्टी के नेता विनय शंकर तिवारी के आवास सहित उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और हरियाणा में दस स्थानों पर छापेमारी की। इसके अलावा ईडी कथित भूमि कब्जा मामले में फरार तृणमूल कांग्रेस नेता शेख शाहजहां के खिलाफ अपनी नई चल रही जांच में पश्चिम बंगाल में लगभग आधा दर्जन स्थानों पर छापेमारी की। मामले में टीएमसी नेता और अन्य संदिग्धों के परिसरों पर अभी भी छापेमारी जारी है। एजेंसी ने शाहजहां को 29 फरवरी को जांच में शामिल होने के लिए नया समन जारी करने के एक दिन बाद ये छापेमारी की।

उत्तर प्रदेश में संघीय एजेंसी का लखनऊ क्षेत्र गंगोत्री एंटरप्राइजेज लिमिटेड से संबंधित कथित बैंक धोखाधड़ी के मामले में धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की धारा 17 के तहत तलाशी अभियान चला रहा है। कंपनी सड़कों के निर्माण, टोल प्लाजा के संचालन और सरकारी ठेकों का काम करती है। समूह के मुख्य प्रवर्तक विनय शंकर तिवारी, रीता तिवारी और अजीत पांडे हैं।

सूत्रों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के लखनऊ, गोरखपुर और नोएडा, गुजरात के अहमदाबाद और हरियाणा के गुरुग्राम में मामले में शामिल आरोपी व्यक्तियों से जुड़े 10 परिसरों पर छापे मारे गए और तलाशी अभी भी जारी है।

बता दें कि 5 जनवरी को चलाए गए इसी तरह के एक तलाशी अभियान में, ईडी अधिकारियों पर उस समय हमला किया गया था, जब वे उत्तरी 24 परगना जिले में शाहजहां और साथी टीएमसी नेता शंकर आध्या के आवासों पर छापेमारी करने जा रहे थे। टीएमसी नेता के समर्थक माने जाने वाले लगभग 200 स्थानीय लोगों ने अधिकारियों और सशस्त्र अर्धसैनिक बलों को घेर लिया, और उन्हें शाहजहाँ के आवास पर छापा मारने से रोक दिया। इस घटना में ईडी के दो अधिकारी घायल हो गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top