Thursday, September 29, 2022
Home मध्यप्रदेश राहत शिविरों में भोजन, पेयजल, डॉक्टर एवं दवाओं की व्यवस्था सुनिश्चित करें...

राहत शिविरों में भोजन, पेयजल, डॉक्टर एवं दवाओं की व्यवस्था सुनिश्चित करें : मुख्यमंत्री चौहान

मध्य प्रदेश, भोपाल :

बाढ़ और अति वृष्टि से ध्वस्त अधोसंरचना को तत्काल पुनर्स्थापित किया जाएगा
यह प्रशासनिक अमले की दक्षता की परीक्षा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया बाढ़ग्रस्त क्षेत्र का अवलोकन और स्थिति की समीक्षा
मुख्यमंत्री ने सिचुएशन रूम से की मैदानी अधिकारियों से चर्चा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अति वृष्टि और बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों से लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए जिला प्रशासन को हरसंभव सहयोग तत्काल उपलब्ध कराया जाएगा। जीवन बचाना सर्वोत्तम प्राथमिकता है। जिला प्रशासन के साथ एसडीआरईएफ, एनडीआरईएफ, बी.एस.एफ, सेना और वायुसेना बचाव और राहत कार्य में जुटी हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को प्रदेश की स्थिति से निरंतर अवगत कराया जा रहा है। सेना और केन्द्र सरकार से अविलंब हरसंभव सहयोग प्राप्त हो रहा है। यह अधिकारियों और कर्मचारियों की प्रशासनिक दक्षता की परीक्षा का समय है। जिला प्रशासन सहित एसडीआरईएफ, एनडीआरईएफ, बी.एस.एफ, सेना, वायुसेना द्वारा इस कठिन परिस्थिति में उत्कृष्ट कार्य किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय स्थित सिचुएशन रूम से अति वृष्टि और बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों का जायजा ले रहे थे। सभी प्रभावित जिलों के कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक से मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्थिति की जानकारी ली। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राहत शिविरों में बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। भोजन, पीने के स्वच्छ पानी के साथ डॉक्टर और दवाओं की व्यवस्था अनिवार्यत: की जाए। वर्षा ऋतु में होने वाली बीमारियों को फैलने से रोकना आवश्यक है। बाढ़ और अति वृष्टि से ध्वस्त अधोसंरचना को तत्काल पुनर्स्थापित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने राज्य सहित केन्द्र के अधिकारियों से की चर्चा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्टेट सिचुएशन रूम से केन्द्रीय दूरसंचार विभाग, सेना, वायुसेना, रेलवे तथा मौसम विभाग के अधिकारियों से राहत कार्यों और व्यवस्थाओं को पुनर्स्थापित करने के संबंध में चर्चा की। जल संसाधन मंत्री श्री तुलसी सिलावट, राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव गृह श्री राजेश राजौरा, अपर मुख्य सचिव जल संसाधन श्री एस.एन. मिश्रा तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

रेस्क्यू के दौरान महिला होमगार्ड ने कराई डिलीवरी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्योपुर, शिवपुरी, ग्वालियर, दतिया, गुना, भिण्ड और मुरैना के कलेक्टर और एस.पी. से राहत और बचाव कार्यों की जिलेवार जानकारी ली। कलेक्टर श्योपुर ने बताया कि जिले में कम्युनिकेशन नेटवर्क ध्वस्त हो चुका है। संचार व्यवस्था के सभी नेटवर्क डाउन हैं। राहत के लिए गाजियाबाद से एनडीआरईएफ की टीम श्योपुर पहुँच रही है। श्योपुर में राहत कार्यों में बड़ी संख्या में महिला होमगार्ड को तैनात किया गया है। रेस्क्यू के दौरान प्लोद ग्राम में एक महिला को प्रसव पीड़ा होने पर महिला होमगार्ड द्वारा डिलीवरी कराई गई, जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। कलेक्टर दतिया ने बाढ़ से घिरे मकानों, सेवढ़ा का पुल टूट जाने और हरसी नदी की ओर से ग्वालियर का सम्पर्क टूट जाने के संबंध में जानकारी दी। शिवपुरी में जल स्तर नीचे आने की सूचना भी दी गई।

चंबल का बढ़ता पानी, भिण्ड-मुरैना को करेगा प्रभावित

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नेशनल हाइवे को जल्द से जल्द रिस्टोर करने के निर्देश दिए। चंबल नदी का जल स्तर बढ़ रहा है तथा कोटा-बैराज से पानी छोड़ा गया है। इससे मुरैना और भिण्ड में बाढ़ की संभावित स्थिति को देखते हुए निचले इलाकों में बसे गाँवों के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट कराने तथा अन्य आवश्यक सावधानियाँ अपनाने के निर्देश भी दिए।

मोबाइल नेटवर्क के लिए विशेष व्यवस्था

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रभावित जिलों में संचार नेटवर्क जल्द से जल्द पुनर्स्थापित करने के लिए केन्द्रीय अधिकारियों से चर्चा की। केन्द्र की ओर से अवगत कराया गया कि तत्काल व्यवस्था के रूप में प्रभावित जिलों में इन्फ्रास्ट्रक्चरल रोमिंग की अनुमति दी जा रही है। इससे किसी भी नेटवर्क से यदि सिग्नल मिलता है तो अन्य नेटवर्क के फोन भी इस नेटवर्क पर कार्य करेंगे। साथ ही राहत और बचाव कार्य में लगे अधिकारी, कर्मचारियों के मोबाइल नम्बरों से प्रियोरिटी रूट दिया जा रहा है। इससे इन लोगों को सम्पर्क में किसी तरह की परेशानी नहीं आएगी।

अगले 48 घंटों में ग्वालियर-चंबल संभाग में वर्षा की संभावना

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मौसम विभाग के अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर अगले 48 घंटों में ग्वालियर-चंबल संभाग में वर्षा की संभावना के दृष्टिगत सावधानी और सजगता बरतने के निर्देश दिए।

वायुसेना के अधिकारियों का माना आभार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वायुसेना के ग्रुप कैप्टन श्री शेरावत और एनडीआरईएफ के प्रभारी श्री असीम उपाध्याय को राहत और बचाव कार्य में सहयोग के लिए प्रदेश की जनता की ओर से धन्यवाद दिया तथा आभार माना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

9

6

कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत ने लोनिवि की समीक्षा बैठक में सड़कों के डामरीकरण एवं मरम्मत के दिए निर्देश

छह माह में पूर्ण हो निर्माणाधीन मोटरमार्गों का कार्यः डॉ0 धन सिंह रावत शीघ्र हो पूरा मुख्यमंत्री घोषणा के तहत स्वीकृत सड़कों का कार्य वन विभाग...

धामी सरकार ने तबादलों के नियम बदलकर दी कर्मचारियों को बड़ी राहत, जानिए नये नियमों से कैसे होंगे तबादले

उत्तराखंड , देहरादून। उत्तराखंड की धामी सरकार ने तबादलों के नियम बदलकल कर्मचारियों को बड़ी राहत दी है। राज्य में परिवहन, माध्यमिक शिक्षा, उच्च शिक्षा,...

सफेद दाढ़ी, बिखरे बालों में दिखे अक्षय, राम सेतु का मच-अवेटेड टीजर हुआ आउट

  बच्चन पांडे, पृथ्वीराज, रक्षाबंधन के बाद अब अक्षय कुमार जैकलीन फर्नांडीस और नुसरत भरुचा के साथ मिलकर लेकर आ रहे है राम सेतु। फिल्म...

मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने प्रदेश में बनाई जाने वाली नई पार्किंग प्रोजेक्ट्स की प्रगति की समीक्षा की।

उत्तराखंड,  मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सोमवार को सचिवालय में प्रदेश में बनाई जाने वाली नई पार्किंग प्रोजेक्ट्स की प्रगति की समीक्षा की।...

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने 30 सितम्बर को लाल परेड ग्राउण्ड भोपाल में होने वाले कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा

मध्यप्रदेश ; मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान भोपाल में लाल परेड ग्राउंड पर आगामी 30 सितंबर को प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को लैपटॉप वितरण के प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम...

7

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने प्रदेश में समूह-ग की 12 और भर्तियों का कैलेंडर किया जारी, पढ़िए पूरी खबर

देहरादून।  उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने प्रदेश में समूह-ग की 12 और भर्तियों का कैलेंडर जारी कर दिया है। आयोग ने इन भर्तियों के विज्ञापन...

बुधनी में 29 सितम्बर को होंगे औद्योगिक क्लस्टर्स के शिलान्यास और लोकार्पण

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि युवाओं सहित प्रदेश के ऐसे सभी लोगों को जो जीविका चलाने के लिए काम करना चाहते...