Tuesday, August 9, 2022
Home राष्ट्रीय छोटे करदाताओं के लिए फायदे की खबर, आज FM निर्मला सीतारमण ने...

छोटे करदाताओं के लिए फायदे की खबर, आज FM निर्मला सीतारमण ने GST मीटिंग में लिया बड़ा फैसला

FM के मुताबिक CGST Act में बदलाव होगा ताकि रीकंसीलिएशन स्टेटमेंट के सेल्फ सर्टिफिकेशन हो सके। कारोबारी साल 2020-21 की छोटे कर्मचारियों के लिए एनुअल रिटर्न फाइल करने की प्रक्रिया इस साल भी जारी रहेगी। यह उनके लिए है जिनका टर्नओवर 2 करोड़ रुपये से कम है।

नई दिल्ली।

GST काउंसिल की बैठक इस साल पहली बार हुई और अच्‍छी खबर लेकर आई। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया कि Council ने महसूस किया है कि इनवर्जन ड्यूटी में कोई बदलाव करना अभी ठीक नहीं होगा। इसे अभी हाल पर छोड़ा जाता है, हालांकि अच्‍छी बात यह रही कि GST एनुअल रिटर्न फाइलिंग को आसान बनाया गया है।

FM के मुताबिक CGST Act में बदलाव होगा, ताकि रीकंसीलिएशन स्टेटमेंट के सेल्फ सर्टिफिकेशन हो सके। कारोबारी साल 2020-21 की छोटे कर्मचारियों के लिए एनुअल रिटर्न फाइल करने की प्रक्रिया इस साल भी जारी रहेगी। यह उनके लिए है जिनका टर्नओवर 2 करोड़ रुपये से कम है। जिन कारोबारियों का टर्नओवर 5 करोड़ या ज्यादा है, उन्हें 2020-21 के लिए रिकॉन्सिलेशन स्टेटमेंट देना होगा। यही नहीं करदाता पेंडिंग रिटर्न फाइल दे सकते हैं। साथ ही कम फीस के साथ Amnesty scheme का फायदा उठा सकते हैं।

अधिकतम लेट फीस में कटौती

FM ने कहा कि छोटे करदाताओं के लिए अधिकतम लेट फीस में कटौती की है, जो अगले टैक्स पीरियड से प्रभावी होगी। इससे छोटे करदाताओं को बड़ी राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि यह बैठक 7 महीने बाद हुई है क्‍योंकि बीच में चुनाव थे।

7 अहम फैसले लिए

FM Nirmala Sitharaman ने बैठक के बाद बताया कि GST Council की बैठक में Covid महामारी को लेकर विस्तार से चर्चा हुई और इसमें 7 अहम फैसले लिए गए। इनमें राज्यों को विदेश से Covid के बारे में मेडिकल इक्विपमेंट्स पर आयात में छूट देने का फैसला हुआ है। वित्त मंत्री के मुताबिक Free कोविड से जुड़ी सप्लाई पर IGST में 31 अगस्त, 2021 तक छूट दी गई है।

बता दें कि इस बैठक में दोपहिया वाहनों के लिए GST दरों को कम करने और प्राकृतिक गैस को अप्रत्यक्ष कर (Indirect tax) के दायरे में लाने सहित दो दूसरी जरूरी वस्तुओं को भी चर्चा के एजेंडे में शामिल करने की बात थी। क्‍योंकि पंजाब जैसे कुछ राज्यों ने Covid के इलाज के लिए जरूरी चिकित्सा आपूर्ति पर GST शुल्क में कटौती की मांग की थी। इस पर बाद में चर्चा होगी।

 

 

 

Source Link

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

प्रभारी स्वास्थ्य सचिव डॉ आर राजेश कुमार के ताबड़तोड़ छापों से स्वास्थ्य महकमें में हड़कम, जानिए देहरादून से हरिद्वार तक किन अस्पतालों में मारे...

देहरादून / हरिद्वार ।  प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ बनाने व इसका लाभ आम-जन को पहुंचाने हेतु स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध है। इसी क्रम में...

संचालित इकाइयों के विस्तार और नवीन निवेश के लिए देंगे पूरा सहयोग : मुख्यमंत्री चौहान

 मध्य प्रदेश ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आज वोल्वो आयशर कमर्शियल व्हीकल्स लिमिटेड के एमडी श्री विनोद अग्रवाल ने भेंट कर मध्यप्रदेश में 1,500...

मुख्यमंत्री चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से नगरीय निकाय के जन-प्रतिनिधियों को किया संबोधित

 मध्य-प्रदेश  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में नगरीय निकायों के सभी वार्डों में हर घर पर तिरंगा फहराने जन-जागरण लाने कोई...

सूचना भवन में किया गया कोविड बूस्टर डोज वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन

 उत्तराखंड,  देहरादून   सूचना एवं लोक संपर्क विभाग द्वारा सोमवार को रिंग रोड स्थित सूचना भवन निदेशालय में कोविड बूस्टर डोज वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन किया...

14

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोजताल पर क्रूज में तिरंगा फहराकर जनता से की अपील “हर घर तिरंगा” अभियान से जुड़ें सभी नागरिक सभी...

 मध्य-प्रदेश   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आजादी के अमृत महोत्सव में हम वीर स्वतंत्रता सेनानियों को याद कर रहे हैं, जिन्होंने रक्त...

मुख्यमंत्री चौहान ने स्वास्थ्य संस्थाओं के लिए एक क्लिक से अंतरित किए 66 करोड़ रूपए, प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं को किया गया पुरस्कृत

मध्य-प्रदेश ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश स्वास्थ्य के क्षेत्र में हमेशा प्रथम रहे, इसके लिए निरंतर प्रयास किए जाएँ। भारत...

11

10

मंदसौर में भगवान पशुपतिनाथ की शाही सवारी में शामिल हुए मुख्यमंत्री चौहान

मध्य-प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मंदसौर में भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन कर पूजा-अर्चना की। श्रावण-भादौ मास में भगवान पशुपतिनाथ पालकी में सवार होकर...