Home उत्तराखंड देवस्थानम एक्ट पर पूर्व CM त्रिवेंद्र सिंह रावत  :  'पब्लिक नहीं, ये...

देवस्थानम एक्ट पर पूर्व CM त्रिवेंद्र सिंह रावत  :  ‘पब्लिक नहीं, ये चंद लोगों की डिमांड’

देहरादून :

उत्तराखंड के प्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन स्थलों और तीर्थों का दर्जा रखने वाले चार धामों समेत प्रमुख मंदिरों के प्रबंधन के लिहाज़ से बनाए गए देवस्थानम बोर्ड के मामले में नया मोड़ आया है।  राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि देवस्थानम एक्ट को वापस लेने की चर्चाओं के बीच यह अहम है कि इस एक्ट को वापस लेने की मांग जनता की नहीं, बल्कि कुछ लोगों की है।  पूर्व सीएम ने यह भी कहा कि अगर इस एक्ट को वापस लिया गया, तो देश भर में एक संदेश जाएगा और अन्य धार्मिक स्थानों से भी इस तरह की मांग उठने लगेगी।

मामला यह है कि देवस्थानम बोर्ड को लेकर पुरोहितों की एक इकाई पिछले कुछ दिनों से प्रदर्शन करते हुए यह मांग रख रही है कि उत्तराखंड सरकार इस बोर्ड को भंग करे।  इसी सिलसिले में हाल में अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा के अध्यक्ष ने राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को चिट्ठी लिखकर मांग दोहराई थी।  इस मामले में पूर्व सीएम रावत इसलिए केंद्र में हैं क्योंकि देवस्थानम बोर्ड बनाने का फैसला उन्हीं के कार्यकाल में लिया गया था।  अब इस पर अपना रुख रावत ने साफ कर दिया है।

‘बोर्ड कानूनी ढंग से बना है’

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बड़ा बयान देते हुए कह, ‘विधानसभा में लम्बी चर्चा के बाद देवस्थानम एक्ट को पारित किया गया था.’ यह कोई ऐसा कानून नहीं है, जो रातों रात बना दिया गया हो. रावत के मुताबिक इस मुद्दे पर विचार विमर्श कर लिया गया था. इस बारे में रावत ने अंदेशा जताते हुए यह भी कहा कि इस एक्ट को वापस लिया गया तो देश के कई कोनों से इस तरह की मांग उठेगी।  शिरडी, सोमनाथ, वैष्णो देवी, पद्मनाभ मंदिरों जैसे तीर्थों से भी इसी आशय की मांग उठने से समस्या गहरा जाएगी।

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस बोर्ड का गठन किया था ताकि गंगोत्री, यमुनोत्री, बद्रीनाथ और केदारनाथ यानी चारधाम समेत 51 मंदिरों का मैनेजमेंट बेहतर ढंग से हो।  हालांकि पिछले कुछ समय में राज्य के धर्मस्व मंत्री सतपाल महाराज के बयान इस बोर्ड के पक्ष में थे, जिनसे तीर्थ पुरोहित नाराज़ हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

5

4

4

3

1

मुख्यमंत्री चौहान से की निवेशकों ने भेंट, प्रदेश में 7,775 करोड़ के नवीन निवेश से मिलेगा 5,350 लोगों को रोजगार

मध्यप्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आज निवास पर समत्व भवन में विभिन्न निवेशकों ने भेंट कर निवेश प्रस्तावों की जानकारी दी। मुख्यमंत्री चौहान ने...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा छीपानेर में नव-निर्मित पहुँच मार्ग और पुल का आकस्मिक निरीक्षण

दिसम्बर अंत तक पूर्ण करें पहुँच मार्ग 5 जनवरी को पहुँच मार्ग और पुल का होगा लोकार्पण  मध्य-प्रदेश : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को सीहोर...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सपत्नीक “अनुगूंज कार्यक्रम में शामिल हुए

 मध्य-प्रदेश :- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विद्यार्थियों की स्वाभाविक प्रतिभा को प्रकट करना शिक्षा का उद्देश्य और शिक्षकों का धर्म है।...

गीता जयंती के उपलक्ष्य में कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने श्रीराम तपस्थली में आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम में भाग लिया।

उत्तराखंड, Rishikesh : गीता जयंती के उपलक्ष्य में कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने श्रीराम तपस्थली में आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम में भाग लिया। इस...

देवप्रयाग में अलकनंदा झूला पुल पर आवाजाही पूरी तरह से बंद

उत्तराखंड, नई टिहरी।  राजशाही के जमाने में बने अलकनंदा झूला पुल को प्रशासन और भारी पुलिस बल की मौजूदगी आखिरकार लोगों की आवाजाही के लिये...