Saturday, August 13, 2022
Home मध्यप्रदेश मिलकर काम करेंगे तो मानवता जीतेगी और कोरोना हारेगा - मुख्यमंत्री चौहान...

मिलकर काम करेंगे तो मानवता जीतेगी और कोरोना हारेगा – मुख्यमंत्री चौहान ,मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश ,भोपाल :

प्रशासन, जन-प्रतिनिधि और स्वयंसेवी संस्थाएँ कोरोना के विरूद्व मिलकर काम करें
शहडोल संभाग स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि, हम सब मिलकर काम करेंगे तो मानवता जीतेगी और कोरोना हारेगा। उन्होंने कहा कि आज एकजुट होकर कोरोना के विरूद्ध कार्य करने की आवश्यकता है। कोरोना के विरूद्ध लड़ाई में सबको एकजुट होकर कार्य करना होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मैं शहडोल इस तड़प और जुनून के साथ आया हूँ कि, कोरोना संक्रमण समाप्त करना हम सभी का उद्देश्य होना चाहिए। कोरोना संक्रमण को अकेला मुख्यमंत्री दूर नहीं कर सकता, यह कार्य जन-मानस के सहयोग के बिना संभव नही है। आज हम सब को राजनैतिक और वैचारिक मतभेद भुलाकर कोरोना संक्रमण के विरूद्ध कार्य करने की आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण की लड़ाई में कई समाजसेवी संस्थाएँ बेहतर काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन तोड़े बगैर हम इस महामारी से निजात नही पा सकते, हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ना है, इसमें प्रदेश के नागरिक सहयोग करें। उन्होंने कहा कि मैं शहडोल संभाग की जनता को विश्वास दिलाना चाहता हूँ कि हम सब मिलकर कोरोना के विरूद्ध लड़ाई लड़ेंगे और लड़ाई जीतेंगे।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज शहडोल में संभाग स्तरीय कोरोना क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। बैठक में शहडोल जिले के प्रभारी मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह, विधायक श्री जयसिंह मरावी, श्रीमती मनीषा सिंह, श्री शरद कोल, कमिश्नर शहडोल श्री राजीव शर्मा, कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह एवं अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि, कोरोना कर्फ्यू लोगों का जीवन बचाने का कर्फ्यू है, इस कर्फ्यू का पालन होना चाहिए। उन्होंने जन-प्रतिनिधियों से कहा कि, आज उनके जन-प्रतिनिधित्व के समक्ष चुनौती है कि वे अपनी जनता का जीवन कैसे बचायें। उन्होंने कहा कि सभी जन-प्रतिनिधि एवं स्वयंसेवी लोगों से सम्पर्क स्थापित करें तथा उन्हें कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक करें। कोरोना टीकाकरण के प्रति भी लोगों को जागरूक किया जाये। उन्होंने कहा कि जन-प्रतिनिधि अपने क्षेत्र में जाकर लोगों को समझाएँ, लोगों का जीवन बचाने के लिए निकलें। उन्होंने कहा कि लोगों के सम्पर्क के दौरान भीड़ लेकर नही जायें, बल्कि प्रशासन की टीम के साथ जायें तथा लोगों तक यह संदेश पहुँचायें कि कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क लगाना और कोरोना कर्फ्यू का पालन करना अति आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मई माह में किसी प्रकार की शादियाँ एवं सार्वजनिक आयोजन न हों, इसकी निरंतर मॉनिटरिंग होना चाहिये। उन्होंने कहा कि, मृतकों के अंतिम संस्कार भी कोरोना प्रोटोकाल के तहत होना चाहिये।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण को हराना है, तो उसे पहचानना होगा। इसके लिए घर-घर सर्वेक्षण का कार्य तेजी से होना चाहिये तथा सर्दी, जुकाम तथा बुखार से पीड़ित मरीजों की निरंतर टेस्टिंग और मॉनिटरिंग होनी चाहिये। शहडोल संभाग के सभी जिलों में राजनैतिक दलों के सदस्य एवं सामाजिक कार्यकर्ता सर्दी, जुकाम एवं बुखार से पीड़ित व्यक्तियों की जाँच एवं उपचार के लिए प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर कार्य करना सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि वैक्सीनेशन सुरक्षा का चक्र है। यह संदेश गाँव के लोगो तक भी पहुँचायें।

शहडोल जिले के प्रभारी मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह, नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला कटारे, सदस्य आपदा प्रबंधन समिति श्री कमल प्रताप सिंह, श्री आजाद बहादुर सिंह और विधायकों ने भी महत्वपूर्ण सुझाव दिये। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने शहडोल संभाग के सभी कलेक्टरों एवं जन-प्रतिनिधियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना से बचाव के लिए किये जा रहे प्रयासों की जानकारी ली। साथ ही इन्हें और कैसे कारगर तरीके से प्रभावी बनाया जा सकता है, इस पर चर्चा की। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री अवधेश कुमार गोस्वामी, डीन मेडिकल कॉलेज डॉ. मिलिंद शिरालकर सहित अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

17

16

15

14

13

12

11

10

9

8