Saturday, December 3, 2022
Home उत्तराखंड मुख्यमंत्री के निर्देश पर CM घोषणाओं की  अपर मुख्य सचिव, मुख्यमंत्री द्वारा...

मुख्यमंत्री के निर्देश पर CM घोषणाओं की  अपर मुख्य सचिव, मुख्यमंत्री द्वारा की गई समीक्षा।

उत्तराखण्ड,  देहरादून :

  • लोक निर्माण, सिंचाई एवं शहरी विकास विभाग की घोषणाओं की हुई समीक्षा।
  • मा0 मुख्यमंत्री की घोषणाओं को समयबद्धता के साथ पूर्ण करने के दिये निर्देश।
  • घोषणाओं के क्रियान्वयन हेतु विभागों के लिये निर्धारित की गई समयसीमा।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर विभिन्न विभागों के अन्तर्गत मा0 मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं की विभागवार समीक्षा अपर मुख्य सचिव आनन्दवर्द्धन द्वारा की जा रही है। उनके द्वारा लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग एवं शहरी विकास विभाग से सम्बन्धित मा0 मुख्यमंत्री घोषणाओं की समीक्षा की गई है। उन्होंने सभी सम्बन्धित विभागों से निर्धारित समय सीमा के अन्दर घोषणाओं को पूर्ण करने के निर्देश दिये हैं।

लोक निर्माण विभाग

लोक निर्माण विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत द्वितीय चरण के निर्माण कार्यों की कुल स्वीकृत घोषणायें 510 है जबकि प्रथम चरण प्री कंस्ट्रक्शन की स्वीकृत घोषणायें 234 है। अवशेष घोषणाओं में 12 निरस्त होने वालीं घोषणायें है तथा 98 घोषणाओं के आगणन शासन में प्राप्त हो चुके है जबकि 33 घोषणाओं के अवशेष आगणन प्राप्त होने है।

अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिये कि जिन 98 घोषणाओं के आगणन शासन में प्राप्त हो चुके हैं, उनका तकनीकी परीक्षण का कार्य 25 सितम्बर, 2021 तक कर लिया जाये तथा वित्त विभाग को प्रेषित घोषणाओं के दिनांक 15 सितम्बर, 2021 तक शासनादेश निर्गत कर दिये जायें। ऐसी घोषणायें जिनमें टेण्डर होने के उपरान्त अभी तक कार्यादेश निर्गत नहीं हुये हैं, उनके दिनांक 10 सितम्बर, 2021 तक कार्यादेश निर्गत करते हुये कार्य प्रारम्भ कराया जाये। साथ ही जिन घोषणाओं की शासन से स्वीकृति होने के उपरान्त बजट उपलब्ध होने के पश्चात् कार्य हेतु टेण्डर होने हैं, उनके अक्टूबर, 2021 के प्रथम सप्ताह तक टेण्डर की कार्यवाही पूर्ण कर निर्माण कार्य प्रारम्भ किया जाये। ऐसी घोषणाओं जिनमें सर्वेक्षण / समरेखण का कार्य गतिमान बताया गया है, में सर्वेक्षण/समरेखण की कार्यवाही सितम्बर, 2021 तक पूर्ण करा ली जाये। ऐसी घोषणाओं, जिनमें द्वितीय चरण की डी०पी०आर० गठन की कार्यवाही गतिमान बतायी गयी है, के डी०पी०आर०-गठन की कार्यवाही 20 सितम्बर, 2021 तक पूर्ण करा ली जाये।

सिंचाई विभाग

सिंचाई विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि विभाग के अन्तर्गत कुल 223 घोषणाओं में 133 के शासनादेश निर्गत किये जा चुके है जबकि 90 पर कार्यवाही गतिमान है। इस सम्बन्ध में अपर मुख्य सचिव श्री आनन्द वर्द्धन ने निर्देश दिये कि विभाग द्वारा इंगित नाबार्ड के अन्तर्गत वित्त पोषित घोषणाओं के शासनादेश सितम्बर, 2021 तक निर्गत कर दिये जाए। विभाग द्वारा इंगित 50 प्रतिशत से अधिक भौतिक प्रगति वाली घोषणाओं को नवम्बर, 2021 तक पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाए। विभाग द्वारा इंगित 25 प्रतिशत से अधिक एवं 50 प्रतिशत से कम भौतिक प्रगति वाली घोषणाओं को मार्च, 2022 से पूर्व पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाए। विभाग द्वारा इंगित अवशेष घोषणाओं की वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति के शासनादेश सितम्बर, 2021 के अन्त तक निर्गत किये जाये।
उन्होंने निर्देश दिये कि ऐसी घोषणायें में जिसमें बजट की व्यवस्था उपलब्ध नहीं है तथा अन्य स्रोतों से भी वित्तीय-पोषण नहीं हो पा रहा है एवं उनकी लागत लगभग 01 करोड़ हो, के प्रस्ताव नियमानुसार मुख्यमंत्री घोषणा सैल को प्रेषित किये जायें। धारचूला जनपद पिथौरागढ़ में बाढ़/आपदा प्रभावित क्षेत्र हेतु सिंचाई विभाग द्वारा अविलम्ब कार्ययोजना तैयार कर समक्ष स्तर पर उसका प्रभावी प्रस्तुतीकरण एवं अनुश्रवण करते हुए 15 दिन के अन्दर कार्ययोजना की वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति सुनिश्चित की जाएं।

उन्होंने कहा कि टिहरी के कोटी में घाट का निर्माण किया जायेगा“ सम्बन्धी घोषणा का पुनः स्थलीय निरीक्षण किया जाये तथा विधायक, टिहरी से आवश्यक समन्वय स्थापित करते हुये घोषणा के क्रियान्वयन हेतु प्रयास किये जाएं। भगवानपुर औद्योगिक क्षेत्र में जल निकासी के लिये अविलम्व प्रस्ताव तैयार किये जाने के निर्देश भी उन्होंने दिये हैं।

शहरी विकास

शहरी विकास विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि विभाग के अन्तर्गत कुल 200 घोषणाएं हुई हैं, जिनमें से 138 घोषणाओं में शासनादेश निर्गत किये जा चुके हैं तथा 62 घोषणाओं में कार्यवाही गतिमान है। उक्त 62 घोषणाओं में से 15 घोषणाओं के प्रस्ताव शासन में प्राप्त हो चुके हैं। उक्त 15 घोषणाओं में मुख्यमंत्री कार्यालय को सन्दर्भित 06 घोषणाओं के शासनादेश 01 सप्ताह के भीतर निर्गत किये जायें।

अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिये कि प्रदेश में विभिन्न नगर पालिकाओं के गठन एवं विस्तारीकरण इत्यादि से सम्बन्धित घोषणा पर शहरी विकास विभाग के स्तर पर समयबद्ध रूप से प्रस्ताव तैयार किये जायें तथा इस प्रकार के प्रकरणों पर यथाशीघ्र सक्षम स्तर पर निर्णय प्राप्त कर निस्तारण की कार्यवाही सुनिश्चित की जाय।

उन्होंने निर्देश दिये कि शासन स्तर पर गतिमान घोषणाओं के क्रियान्वयन की कार्यवाही 3 माह में पूर्ण कर ली जाय। नगरपालिका क्षेत्रान्तर्गत प्रस्तावित विभिन्न नाली निर्माण से सम्बन्धित बड़ी लागत की परियोजनाओं हेतु शहरी विकास विभाग द्वारा सिंचाई विभाग को कार्यदायी संस्था नामित करते हुए यथाशीघ्र घोषणाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाय।

उन्होंने कहा कि शहरी विकास विभाग को आवंटित ऐसी घोषणायें जो अन्य विभागों को स्थानान्तरित की जानी हैं, को तीन दिन के भीतर स्थानान्तरित किये जाने की कार्यवाही की जाये। ऋषिकेश क्षेत्रान्तर्गत खाण्ड गांव को नगरपालिका क्षेत्र में सम्मिलित किये जाने पर सहमति प्रदान करते हुए निर्देशित किया गया कि कृष्णानगर चूँकि वन क्षेत्र में बसा हुआ है एवं राजस्व ग्राम नहीं है, अतः उक्त क्षेत्र को नियमानुसार नगरपालिका में सम्मिलित किया जा सकता है अथवा नहीं, के सम्बन्ध में एक सप्ताह के भीतर वस्तुस्थिति से मुख्यमंत्री कार्यालय को अवगत कराया जाये।

ऋषिकेश में कूड़ा निस्तारण हेतु ट्रेचिंग ग्राउंड की व्यवस्था  सम्बन्धी घोषणा के सम्बन्ध में 01 माह के भीतर शासनादेश निर्गत किये जाने की कार्यवाही करने के भी निर्देश अपर मुख्य सचिव ने दिये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

कोतवाली के अंदर स्टोन क्रशर और रिजॉर्ट संचालक के साथ अभद्रता व मारपीट करना एक दरोगा को भारी पड़ गया

उत्तराखंड, रामनगर। कोतवाली के अंदर स्टोन क्रशर और रिजॉर्ट संचालक के साथ अभद्रता व मारपीट करना एक दरोगा को भारी पड़ गया। पुलिस महानिरीक्षक...

cell phone , मोबाइल फोन में नहीं चला पाएंगे 2 सिम, Airtel-Jio जैसी बड़ी कंपनियां देंगी ग्राहकों को झटका

♣   Mobile Phone, मोबाइल फोन   ♣ आज ज्यादातर हाथों में बड़े-बड़े स्मार्टफोन देखे जा सकते हैं. मोबाइल के कीपैड पर थिरकती उंगलियां इंसान की जिंदगी...

उत्तराखंड में सख्त धर्मांतरण कानून के बाद सीएम पुष्कर सिंह धामी का यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर बड़ा फैसला

 उत्तराखंड    देहरादून  धामी सरकार ने उत्तराखंड में सख्त धर्मांतरण कानून के बाद यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर बड़ा फैसला लिया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निभाया अपना वचन, शिवम की बहन कृतिका के विवाह में पहुँची आर्थिक सहायता

खुशी के आँसू लिये शिवम ने जताया मामा शिवराज का आभार मध्य-प्रदेश : मुख्यमंत्री ने कहा था कि शिवम चिंता मत करना। तुम्हारी बहन की शादी...

सचिवालय बैडमिंटन अन्तर्विभागीय प्रतियोगिता 17-19 दिसम्बर को

देहरादून ; उत्तराखण्ड सचिवालय बैडमिंटन क्लब की कार्यकारिणी की बैठक शुक्रवार को सचिवालय परिसर स्थित एफ0आर0डी०सी० भवन में आयोजित की गयी। बैठक में निर्णय लिया गया...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी उद्यान में रोपे पौधे

मध्य-प्रदेश, Bhopal ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी उद्यान में खिरनी, गुलमोहर और जंगल जलेबी के पौधे लगाए। विदिशा की लंकेश्वर समाज कल्याण...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बैतूल के कुंडबकाजन में मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान के स्वीकृति-पत्र वितरण कार्यक्रम में हुए शामिल

  मध्य-प्रदेश, बैतूल ; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नया जमाना आ रहा है। अब प्रदेश में जनता का राज चलेगा, गड़बड़ करने...

सीएम धामी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से शिष्टाचार भेंट कर दी जन्मदिवस की शुभकामना

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को नई दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी नड्डा से शिष्टाचार भेंट की और...

पूर्ण हो रही गो-शालाओं में गो-वंश रखने का कार्य तेजी से हो : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई गो-संवर्धन बोर्ड की बैठक मध्य-प्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पूर्ण हो रही गो-शालाओं को तेजी से गो-वंश...

जल जीवन मिशन की परियोजनाओं को जल्दी से पूर्ण करें : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

उत्सवी माहौल में हों लोकार्पण मुख्यमंत्री ने की जल जीवन मिशन परियोजनाओं की समीक्षा मध्य-प्रदेश :  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जल जीवन मिशन...