Home उत्तराखंड सचिव आपदा प्रबन्धन ने किया आपदा के दृष्टिगत विभिन्न समाचार एजेंसियों के...

सचिव आपदा प्रबन्धन ने किया आपदा के दृष्टिगत विभिन्न समाचार एजेंसियों के प्रतिनिधियों से संवाद।

उत्तराखण्ड, देहरादून :

आपदा की स्थिति में आम जनता तक पहुंचे तथ्यपरक सही जानकारी।

मीडिया से की सहयोग की अपेक्षा।

सचिव आपदा प्रबन्धन श्री एस.ए. मुरूगेशन द्वारा गुरूवार को राज्य आपातकालीन परिचालन केन्द्र सचिवालय में आपदा के दृष्टिगत प्रदेश में मानसून पूर्व तैयारियों के सम्बन्ध में दूरदर्शन, आकाशवाणी, सूचना विभाग सहित विभिन्न न्यूज एजेंसियों एवं सामुदायिक रेडियो के प्रतिनिधियों से विचार-विमर्श किया गया।


सचिव आपदा प्रबंधन श्री एस.ए.मुरूगेशन ने बताया कि प्रदेश में समय-समय पर उत्पन्न होने वाली आपदा की परिस्थितियों  का कारगर ढंग से सामना करने के लिये आपदा प्रबन्धन तंत्र की मजबूती पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आपदा से सम्बन्धित घटनाओं की तथ्यपरक वास्तविक जानकारी आम जनता को समय पर उपलब्ध हो इसके लिये भी प्रयास किये गये हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी तथा गैर सरकारी समाचार एजेंसियों की भी आम जनता तक सही जानकारी उपलब्ध कराने में बड़ी भूमिका रहती है। इसके लिये उन्होंने आपसी समन्वय एवं सहयोग की अपेक्षा की है।

सचिव आपदा प्रबंधन श्री मुरूगेशन ने बताया कि उनके द्वारा इसी प्रकार का विचार-विमर्श प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधियों से भी किया जायेगा तथा इस सम्बन्ध में उनके बहुमूल्य सुझावों की जानकारी प्राप्त की जायेगी। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास घटनाओं की त्वरित सूचना संचार माध्यमों को उपलब्ध कराने का रहता है ताकि इस सम्बन्ध में किसी भी प्रकार की भ्रांति की स्थिति उत्पन्न न होने पाये।
उन्होंने कहा कि जन जागरूकता के प्रसार में मीडिया का अहम रोल रहता है, चूंकि दैवीय आपदा जैसी घटनायें आकस्मिक रूप से होती है अतः इन घटनाओं में कम से कम जान-माल का नुकसान हो इसके लिये जन जागरूकता के साथ तथ्यों की सही जानकारी आम जनता तक पहुंचे इसके लिये आपसी समन्वय पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन के अंतर्गत कार्यरत विभिन्न संस्थाओं से भी बेहतर समन्वय बनाये जाने का प्रयास किया गया है।
सचिव आपदा प्रबंधन श्री एस.ए.मुरूगेशन ने बताया कि आपदा प्रबन्धन द्वारा यह भी प्रयास किया जा रहा है कि आपदा के विभिन्न विषय विशेषज्ञों के माध्यम से आकाशवाणी, दूरदर्शन, सामुदायिक रेडियो आदि के माध्यम से आपदा से एवं इसके प्रभाव को कम करने से सम्बन्धित जानकारी आम जनता तक पंहुंचे। उन्होंने कहा कि चाहे व्यवस्था पूर्व मानसून की हो, या लैंड स्लाइड, बाढ़, क्लाउड बर्स्ट, भूकंप, फॉरेस्ट फायर या स्कूल सेफ्टी की हो सभी मामलों में जन जागरूकता से हम इससे होने वाले नुकसान को कम कर सकते हैं।
इस अवसर पर श्री आनन्द श्रीवास्तव अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबन्धन प्रधिकरण, डॉ. पीयूष रौतेला सहित अन्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

4

3

2

1

मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने राजस्व वादों की समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व वादों के तेजी से निस्तारण के दिए निर्देश।

उत्तराखंड, देहरादून ; मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने शुक्रवार को सचिवालय में राजस्व वादों की समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व वादों के तेजी से...

नैनीताल में स्कूटी और बाइक की आमने- सामने से हुई जोरदार टक्कर, बाइक सवार की मौके पर मौत

नैनीताल। भवाली रोड पर स्कूटी और बाइक में आमने-सामने से जोरदार टक्कर हो गई, जिससे बाइक सवार की मौत हो गई, जबकि उसका साथी और...

 सीएम पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री गिरिराज सिंह का आभार  जताया

 डबल इंजन का प्रदेश को मिल रहा फायदा :  सीएम धामी देहरादून ; केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण में उत्तराखण्ड के लिये 18602 अतिरिक्त...

10 दिसंबर होने वाली आईएमए की पासिंग आउट परेड में देश-विदेश के कैडेट बनेंगे सेना का अभिन्न अंग

देहरादून।  भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) में पासिंग आउट परेड आगामी 10 दिसंबर को होगी। इसमें देश-विदेश के जेंटलमैन कैडेट बतौर अधिकारी बनकर अपने-अपने देश की...

मुख्यमंत्री चौहान ने पर्यावरण प्रेमी संस्था के सदस्यों के साथ लगाए पौधे, पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने अपने जन्म-दिन पर किया पौध-रोपण

मध्य-प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी पार्क में अशोक, शहतूत, केसिया और सामिया के पौधे लगाए। मुख्यमंत्री चौहान के साथ भोपाल के पूर्व...

मध्यप्रदेश में भी लगाएंगे बहुआयामी कृषि प्रदर्शनी, लागू करेंगे नवाचार – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि किसानों की आर्थिक समृद्धि के लिए मध्यप्रदेश में अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। गेहूँ...