Home टेक्नोलॉजी सिग्नल एप की भारत में डाउनलोडिंग 2.5 करोड़ के पार, क्या है...

सिग्नल एप की भारत में डाउनलोडिंग 2.5 करोड़ के पार, क्या है इसमें खास

सिग्नल एप तो पुराना मैसेजिंग एप है लेकिन व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी ने इसमें जान फूंकने का काम किया है। व्हाट्सएप ने नई प्राइवेसी पॉलिसी की घोषणा की और सिग्नल धड़ाधड़ डाउनलोड होने लगा। सिग्नल एप को भारत में काफी लोकप्रियता मिल रही है। महज एक महीने के अंदर भारत में सिग्नल के एक करोड़ से अधिक यूजर्स हो गए हैं। तो सवाल यह है कि आखिर सिग्नल इतना खास क्यों हो गया है। आइए जानते हैं….

प्राप्त जानकारी के मुताबिक जनवरी के शुरुआती दो हफ्तों में सिग्नल को भारत में 2.5 करोड़ से अधिक लोगों ने डाउनलोड किए हैं। ऐसे में देखा जाए तो सिग्नल एप काफी तेजी से जगह बना रहा है। सिग्नल की लोकप्रियता के पीछे सबसे बड़ा कारण उसकी सिक्योरिटी का है। अमेरिकी सेना भी यह एप इस्तेमाल कर रही है। जनवरी 2020 में मिडिल ईस्ट में तैनात एक खास टुकड़ी को सिग्नल डाउनलोड करने को कहा गया था, हालांकि फिलहाल यह ईरान में बैन है। सिग्नल को हैक करना बहुत ही मुश्किल है और यदि को हैक कर भी लेता है तो मैसेज नहीं पढ़ पाएगा, क्योंकि मैसेज एंक्रिप्टेड यानी कूट भाषा में होते हैं। इसके अलावा ओरिजनल मैसेज की लोकेशन को नहीं ढूंढा जा सकता। आइए जानते हैं इसके कुछ खास सिक्योरिटी फीचर्स के बारे में…

इसमें इन्काग्निटो कीबोर्ड ऐसा फीचर है जो कीबोर्ड को आपके लिखे को सेव करने की इजाजत नहीं देता। ऑटोकम्पलीट या सजेशन की सुविधा चाहते हैं तो इस फीचर को डिसेबल रखना होगा। स्क्रीन सिक्योरिटी फीचर दूसरों को सभी चैट्स के स्क्रीन शॉट्स लेने से रोकता है। इस पर ग्रुप बनाते वक्त आप किसी को भी उसकी इजाजत के बिना नहीं जोड़ सकते, इनवाइट स्वीकारने के बाद ही ग्रुप का सदस्य बना जा सकता है। अधिकतम 150 मेंबर्स का ग्रुप बन सकता है। हाल ही में ग्रुप वीडियो कॉलिंग फीचर भी जुड़ा है।

व्हॉट्सएप की तरह फिंगरप्रिंट लॉक सेट किया जा सकता है। पिन सेट की जा सकती है, लेकिन भूलने पर उसे फिर से हासिल नहीं किया जा सकता। वॉट्सएप की तरह ही रीड रीसिप्ट्स को डिसेबल कर सकते हैं, लेकिन यहां टाइपिंग इंडीकेटर भी है, जिसे ऑन या ऑफ किया जा सकता है।

गूगल ड्राइव या आईक्लाउड पर चैट्स का बैकअप नहीं लिया जा सकता। अगर आप पुराना फोन खो देते हैं और नए फोन पर इस एप को शुरू करते हैं तो पुरानी चैट्स नहीं पा सकेंगे। यह जरूर है कि शेयर किए हुए फोटोज, मैसेज और फाइल्स, डिवाइस में ही सेव हो जाते हैं। सिग्नल मैसेज और आपसे जुड़ी जानकारी को अपने सर्वर पर भी सेव नहीं करता है।

Source Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

5

4

4

3

1

मुख्यमंत्री चौहान से की निवेशकों ने भेंट, प्रदेश में 7,775 करोड़ के नवीन निवेश से मिलेगा 5,350 लोगों को रोजगार

मध्यप्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आज निवास पर समत्व भवन में विभिन्न निवेशकों ने भेंट कर निवेश प्रस्तावों की जानकारी दी। मुख्यमंत्री चौहान ने...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा छीपानेर में नव-निर्मित पहुँच मार्ग और पुल का आकस्मिक निरीक्षण

दिसम्बर अंत तक पूर्ण करें पहुँच मार्ग 5 जनवरी को पहुँच मार्ग और पुल का होगा लोकार्पण  मध्य-प्रदेश : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को सीहोर...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सपत्नीक “अनुगूंज कार्यक्रम में शामिल हुए

 मध्य-प्रदेश :- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विद्यार्थियों की स्वाभाविक प्रतिभा को प्रकट करना शिक्षा का उद्देश्य और शिक्षकों का धर्म है।...

गीता जयंती के उपलक्ष्य में कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने श्रीराम तपस्थली में आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम में भाग लिया।

उत्तराखंड, Rishikesh : गीता जयंती के उपलक्ष्य में कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने श्रीराम तपस्थली में आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम में भाग लिया। इस...

देवप्रयाग में अलकनंदा झूला पुल पर आवाजाही पूरी तरह से बंद

उत्तराखंड, नई टिहरी।  राजशाही के जमाने में बने अलकनंदा झूला पुल को प्रशासन और भारी पुलिस बल की मौजूदगी आखिरकार लोगों की आवाजाही के लिये...