Thursday, July 7, 2022
Home उत्तराखंड   रुद्रपुर में 18 अप्रैल को आयोजित होगी सपा प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक...

  रुद्रपुर में 18 अप्रैल को आयोजित होगी सपा प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक – प्रदेश अध्यक्ष सपा

देहारादून: परेड ग्राउंड स्थित पार्टी कार्यालय में सपा पदाधिकारियों की हुई बैठक मे पार्टी के पदाधिकारियों ने आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा तय की। तय किया गया कि प्रदेश उपाध्यक्ष अनुसूचित जाति-जनजाति की नियुक्ति समेत अन्य फ्रंटल संगठनों का गठन इसी माह कर दिया जाएगा। समाजवादी पार्टी प्रदेश में एक मई से अखिलेश संदेश यात्रा निकालेगी। इसके अलावा 18 अप्रैल को प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक प्रस्तावित है। वहीं, प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक 18 अप्रैल को रुद्रपुर में आयोजित करने पर सहमति बनी। बैठक में प्रदेश प्रभारी राजेंद्र सिंह चौधरी, उत्तर प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम व पूर्व मंत्री बलवंत सिंह हिस्सा लेंगे।

वक्ताओं ने कहा कि इससे पहले 23 मार्च को प्रत्येक जनपद में स्व. डॉ. राम मनोहर लोहिया का 111वां जन्म दिवस मनाया जाएगा। प्रदेश अध्यक्ष सत्यनारायण सचान ने बताया कि मई दिवस से अखिलेश संदेश यात्रा शुरू की जा रही है। जिसका मुख्य उद्देश्य मजदूर, किसान, युवा को न्याय दिलाना होगा। उन्होंने प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को बदलकर भाजपा ने यह स्वीकार कर लिया है कि सरकार चार सालों में पूरी तरह विफल रही। उन्होंने कहा कि बीते वर्षों में प्रदेश में जो भी सरकारें रहीं वह भ्रष्टाचार में संलिप्त रहीं।समाजवादी पार्टी ने आलोक राय को  देहरादून जिले का अध्यक्ष नियुक्त किया है। इसके अलावा बिना किशोर को महिला सभा प्रदेश अध्यक्ष, आशीष यादव को समाजवादी युवजन सभा  प्रदेश अध्यक्ष और अनुराग कुकरेती को लोहिया वाहिनी प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। यह जानकारी शनिवार को प्रदेश अध्यक्ष सत्यनारायण सचान ने पत्रकारों को दी। सचान ने कहा संगठन की मजबूती के लिए राज्य में पार्टी का विस्तार किया जा रहा है।

उत्तराखंड सरकार पर निशाना साधते हुए सचान ने कहा उत्तराखंड मे बार बार सीएम बदलना कहीं न कहीं भारतीय जनता पार्टी मे अंदरूनी कलह को दर्शाता है, जिसका जीता जागता उदाहरण कुम्भ है उत्तराखंड के पूर्व सीएम त्रिवेंद्र ने जो रूपरेखा कुम्भ के लिए तैयार की थी उसे वर्तमान सीएम तीरथ ने चुटकियों मे समाप्त कर दिया यानि पूर्व मुख्यमंत्री के फैसले को बदल दिया और कुम्भ मे कोरोना को बढ़ावा देते हुए केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अलावा सब कुछ समाप्त कर दिया। आगे सचान ने कहा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत कुम्भ मेले मे श्रद्धालुओं को राजनीतिक लाभ के लिए और निजी तौर पर साधुओं को खुश करने के लिए प्रदेश और देश की जनता को पुनः कोरोना की लहर मे झोंकना चाहते हैं।

बीते शनिवार को ये बैठक हुई। बैठक में प्रदेश प्रभारी राजेंद्र सिंह चौधरी, आभा बड़थ्वाल, डॉ. राकेश पाठक, सुभाष पंवार, हेमा वोहरा, ज्ञानचंद यादव, केके गौतम आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post