Tuesday, November 29, 2022
Home Uncategorized Uttarakhand Chamoli : आपदा में मृतकों के आश्रितों को 20 लाख का...

Uttarakhand Chamoli : आपदा में मृतकों के आश्रितों को 20 लाख का मुआवजा मिलना शुरू

Chamoli : ऋषिगंगा में आई आपदा के दस दिन बाद तपोवन टनल से दो और शव मिले। दोनों देहरादून के रहने वाले थे। अभी तक कुल 58 शव और 24 मानव अंग बरामद हो चुके हैं। कुल 30 शवों और एक मानव अंक की शिनाख्त हुई है। अभी भी आपदा में 146 लोग लापता हैं। मंगलवार को सुरंग से मलबा हटाने के दौरान अंदर से पानी आने लगा जिसके चलते काम रोक दिया गया। अब पंप मशीन लगाकर सुरंग से पानी निकाला जा रहा है।

सात फरवरी को ऋषिगंगा में आई आपदा में 206 लोग लापता हो गए थे, जिनको तलाशने का काम लगातार जारी है। मंगलवार को तपोवन जल विद्युत परियोजना की सुरंग से दो शव बरामद हुए, जिनकी शिनाख्त अनील पुत्र थेपा सिंह निवासी कालसी देहरादून और राहुल पुत्र कृष्ण किशोर निवासी बड़कोट रानीपोखरी डोईवाला देहरादून के रूप में हुई है। वहीं सुरंग से अब तक 11 शव बरामद हो चुके हैं।

वहीं तपोवन जल विद्युत परियोजना की सुरंग से मलबा हटाने के दौरान मंगलवार दोपहर करीब दो बजे अंदर से पानी आने लगा, जिसके बाद पाइप बिछाकर और हैवी पंप लगाकर अंदर से पानी खींचने का काम शुरू किया गया। देर शाम तक पानी निकालने का काम जारी था। ऐसे में मलबा हटाने का काम दो बजे से बंद रहा।  पानी भरने से अंदर दलदल बनने की भी आशंका जताई जा रही है।

रैणी में सिल्ट हटाने में जुटी एनडीआरएफ की टीम
रैणी के पास ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट और उसके आसपास मलबे के ढेर लगे हैं। यहां से सिल्ट और मलबा हटाने के लिए एनडीआरएफ के करीब 40 जवान लगे हुए हैं। एनडीआरएफ के कमांडेंट विकास ने बताया कि मलबे से संभावित जगह पर शव तलाशने का काम जारी है।

91 के लिए जा चुके डीएनए सैंपल
प्रशासन की ओर से लापता लोगों के परिजनों के सैंपल लिए जा रहे हैं। अब तक 91 लोगों के डीएनए सैंपल लिए जा चुके हैं। वहीं जोशीमठ थाने में 179 लोगों की गुमशुदगी दर्ज है। जिन शवों की शिनाख्त नहीं हो पाई है उनके भी डीएनए सैंपल लिए जा रहे हैं।

ऋषिगंगा पर बनाए अस्थायी पुल से रोज 300 लोग कर रहे आवाजाही
रैणी गांव में ऋषिगंगा पर बीआरओ की तरफ से बनाए गए अस्थायी पुल से सीमा पर तैनात सेना और आईटीबीपी के जवानों के लिए भी आवागमन कुछ आसान हो गया है। हालांकि वैली ब्रिज नहीं बनने से फिलहाल वाहनों की आवाजाही नहीं हो पा रही है, लेकिन जरूरी सामान लाने और ले जाने में कुछ आसानी हो गई है। इस पुल से हर दिन 300 से 400 लोग आवाजाही कर रहे हैं।

मलारी हाईवे को जोड़ने के लिए बीआरओ ऋषिगंगा पर वैली ब्रिज बना रहा है। इसके लिए एक तरफ से सपोर्ट दीवार बनाई जा चुकी है, जबकि दूसरी तरफ दीवार बनाने का काम चल रहा है। वैली ब्रिज बनने में अभी कुछ समय लग जाएगा और इसको देखते हुए बीआरओ ने अस्थायी पैदल पुल बना दिया है।

अस्थायी पुल बनने से लाता, सुखी, भल्लागांव, तोलमा, फागती, तमक, सुराईटोटा आदि गांवों के साथ ही मलारी में रह रहे सेना और आईटीबीपी के जवानों को भी आवागमन में सुविधा हो गई है। बीआरओ के मजदूरों को भी दूसरी तरफ जाने में अब परेशानी नहीं उठानी पड़ रही है। सेना के मेजर उत्कर्ष शुक्ला का कहना है कि इस पुल से हर दिन 300 से 400 लोग आवाजाही कर रहे हैं। साथ ही गांवों में रोजमर्रा की वस्तुओं को भी इसी पुल से ले जा रहे हैं।

Source Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

सेंटर फॉर एक्सीलेंस को लेकर मंत्री जोशी ने अधिकारियों को एक सप्ताह में एक्शन प्लान बनाने के दिए निर्देश

देहरादून। कृषि एवं उद्यान मंत्री गणेश जोशी ने सोमवार को सचिवालय स्थित एफआरडीसी सभागार में उद्यान विभाग के अधिकारियों के साथ एक सप्ताह पूर्व हुई...

प्रदेश में 226 नई स्वास्थ्य संस्थाएँ शुरू की जायेंगी : परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी

स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में प्रदेश अग्रणी राज्यों में आत्म-निर्भर हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर पर केन्द्रित कार्यक्रम का किया शुभारंभ मध्य-प्रदेश ; लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण...

मध्यप्रदेश और मणिपुर के मध्य पर्यटन सहित अन्य क्षेत्रों में आदान-प्रदान बढ़ाने के प्रयास होंगे : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री मणिपुर के राजकीय उत्सव संगाई महोत्सव में शामिल हुए मध्य-प्रदेश : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश और मणिपुर के मध्य पर्यटन,...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में ही संभव हो सका जम्मू-कश्मीर में पंचायतों का गठन : पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज

जम्मू-कश्मीर से आये सैकडों पंचायत प्रतिनिधियों ने की पंचायत मंत्री से भेंट देहरादून। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में ही जम्मू-कश्मीर में पंचायतों का गठन...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनपद टिहरी क्षेत्रान्तर्गत परोगी(अगलाड़) थत्यूड़ में विभिन्न विकास योजनाओं का किया लोकार्पण एवं शिलान्यास।

देहरादून; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को जनपद टिहरी क्षेत्रान्तर्गत परोगी(अगलाड़) थत्यूड़ में विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्होंने अठजूला क्रीड़ा...

गौचर व चिन्यालीसौड़ के लिए जल्द शुरू होगी हवाई सेवा

उत्तराखंड / नई दिल्ली ; उड़ान योजना के अगले टेंडर में शामिल की जाएगी गौचर व चिन्यालीसौड़ की हवाई सेवा पिथौरागढ़ से फिक्स्ड विंग...

राष्ट्र के प्रति समर्पित नागरिकों का निर्माण करती है एनसीसी : राज्यपाल मंगुभाई पटेल

एनसीसी स्थापना दिवस पर साइकिलिस्ट का किया स्वागत मध्यप्रदेश ; राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि एनसीसी दुनिया का सबसे बड़ा वर्दीधारी युवा संगठन है।...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अशोक, कचनार और गूलर के पौधे लगाए

मध्यप्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी उद्यान में रायसेन की उड़ान वेलफेयर सोसाइटी के सदस्यों के साथ अशोक, कचनार और गूलर के पौधे...

VIP ड्यूटी से मुक्त होंगे SDM, मुख्य सचिव ने दिए निर्देश, प्रोटोकॉल अफसर किए जाएंगे तैनात

देहरादून ; जिलाधिकारी और उपजिलाधिकारी वीआईपी ड्यूटी में व्यस्त रहने के कारण अपने मूल काम को समय नहीं दे पाते हैं। हालत यह है कि...

भ्रष्टाचार कोढ़ है, इसे पूरी तरह समाप्त करना जरूरी : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

सुशासन के लिए जन-प्रतिनिधि, अधिकारी-कर्मचारी टीम भावना और दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ कार्य करें प्रभारी मंत्री प्रति माह जिले में संचालित योजनाओं, विकास कार्यों और...