Home उत्तर प्रदेश कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए योगी सरकार का बड़ा कदम,...

कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए योगी सरकार का बड़ा कदम, यूपी के जिलों को दिए 225 करोड़ , UTTAR PRADESH

लखनऊ।

राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए पैसे की भरपूर पैसे की व्यवस्था कराने की प्रक्रिया शुरू करा दी है। प्रदेश के सभी 75 जिलों को राज्य आपदा मोचक निधि से 225 करोड़ रुपये दे दिए हैं। बड़े जिलों को पांच-पांच करोड़ और छोटे जिलों को दो-दो करोड़ रुपये दिए गए हैं। अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार ने शनिवार को शासनादेश जारी करते हुए कहा है कि नोवेल कोरोना वायरस के दूसरे लहर को देखते हुए राज्य आपदा मोचक निधि से पैसे की व्यवस्था की गई है। इससे मेडिकल कन्ज्यूमेबिल्स यानी दवा, पीपीई किट, एन-95 मास्क, होम मेडिकल किट, थर्मल स्कैनर, आक्सीजन सिलेंडर आदि खरीदा जाएगा। इसे स्वाथ्य विभाग द्वारा निर्धारित दरों किया जाएगा। इसके साथ ही सर्विलांस एवं स्क्रीनिंग ऑपरेशन एवं कांटैक्ट ट्रेसिंग के लिए वाहर किराए पर भी लिया जा सकेगा। श्रेणी वन वाले जिलों में 15 और श्रेणी टू के जलों में 10 वाहन किराए पर लिए जा सकेंगे।

औषधियों व मेडिकल उपकरणों को खरीदने में स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों और वित्तीय नियमों का पालन किया जाएगा। जिस मद में पैसा दिया गया है उसी मद में उसे खर्च किया जाएगा। डीएम की अध्यक्षता में गठित कमेटी की संस्तुति पर इन सामानों को खरीदा जाएगा। राज्य आपदा मोचक निधि की धनराशि का व्यय सक्षम अधिकारी द्वारा वित्तीय व प्रशासनिक स्वीकृति प्रापत करने के बाद ही किया जाएगा। इस पैसे का उपयोग 31 मार्च 2022 से पहले कर लिया जाएगा। पैसा यदि बचता है तो उसे 31 मार्च 2022 से पहले समर्पित किया जाएगा।

शहरों में कोरोना से लड़ाई पर खर्च होगा एसएफसी का पैसा

शहरों में कोरोना से लड़ाई के लिए राज्य वित्त आयोग यानी एसएफसी का पैसा खर्च किया जाएगा। इसके लिए निकायों के पास बचे 149.50 करोड़ का इस्तेमाल किया जाएगा। सचिव नगर विकास अनिल कुमार ने इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया है। निकाय अधिकारी इसके आधार पर इस पैसे का उपयोग कर सकेंगे।

कमेटी से लेने होगी अनुमति

कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए निकायों को जरूरी सामान खरीदने की सुविधा दी गई है। इसके लिए राज्य वित्त आयोग के पैसों से इन सामानों को खरीदा जाएगा। इन पैसों को खर्च करने के लिए डीएम की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई है। इसमें सीडीओ, निकाय का प्रभारी अधिकारी या नगर आयुक्त, मुख्य कोषाधिकारी को सदस्य बनाया गया है और सीएमओ सदस्य सचिव बनाया गया है। निकायों को सामान खरीदने के प्रस्ताव कमेटी के समक्ष रखना होगा। कमेटी की मंजूरी के बाद सामान को खरीदा जाएगा।

इन पर खर्च होगा

जरूरी के आधार पर निकाय वाहन किराए पर ले सकेंगे। इसका इस्तेमाल कोरोना की रोकथाम के लिए सर्विलांस में किया जाएगा। इसके साथ ही सैंपिलंग व आरआरटी गतिविधियों के लिए खर्च किया जा सकेगा। ए श्रेणी वाले जिलों में अधिकतम 15 वाहन और बी श्रेणी वाले जिलों में 10 वाहन किराए पर लिए जा सकेंगे। जरूरत के आधार पर मानव संसाधन जुटाए जाएंगे। इसमें डाक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, स्टाफ नर्स, लैब टेक्नीशियन व सफाई कर्मी संविदा के आधार पर रखे जा सकेंगे।

 

 

 

 

 

 

Source Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

5

4

4

3

1

मुख्यमंत्री चौहान से की निवेशकों ने भेंट, प्रदेश में 7,775 करोड़ के नवीन निवेश से मिलेगा 5,350 लोगों को रोजगार

मध्यप्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आज निवास पर समत्व भवन में विभिन्न निवेशकों ने भेंट कर निवेश प्रस्तावों की जानकारी दी। मुख्यमंत्री चौहान ने...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा छीपानेर में नव-निर्मित पहुँच मार्ग और पुल का आकस्मिक निरीक्षण

दिसम्बर अंत तक पूर्ण करें पहुँच मार्ग 5 जनवरी को पहुँच मार्ग और पुल का होगा लोकार्पण  मध्य-प्रदेश : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को सीहोर...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सपत्नीक “अनुगूंज कार्यक्रम में शामिल हुए

 मध्य-प्रदेश :- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विद्यार्थियों की स्वाभाविक प्रतिभा को प्रकट करना शिक्षा का उद्देश्य और शिक्षकों का धर्म है।...

गीता जयंती के उपलक्ष्य में कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने श्रीराम तपस्थली में आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम में भाग लिया।

उत्तराखंड, Rishikesh : गीता जयंती के उपलक्ष्य में कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने श्रीराम तपस्थली में आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम में भाग लिया। इस...

देवप्रयाग में अलकनंदा झूला पुल पर आवाजाही पूरी तरह से बंद

उत्तराखंड, नई टिहरी।  राजशाही के जमाने में बने अलकनंदा झूला पुल को प्रशासन और भारी पुलिस बल की मौजूदगी आखिरकार लोगों की आवाजाही के लिये...